मुख्य बिंदु:

– लखनऊ में भारी बारिश के कारण कई जगहों पर हुआ जलभराव।

– लोगों के घरों में भी भरा पानी।

– पेड़ों के टूटने से बिजली की सप्लाई में आई रूकावट।

– सड़कों पर जलभराव के कारण यातायात पर पड़ा बुरा असर।

– आईएमडी ने जारी किया ऑरेंज अर्लट, लोगों से घरों में रहने की अपील की।

लखनऊ में भारी बारिश के कारण शहर के कई इलाकों में जलभराव और ट्रैफिक जाम की समस्या पैदा हो गई है। आईएमडी ने बेहद खराब मौसम के लिए चेतावनी के रूप में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। बारिश ने लोगों की परेशानियों को बढ़ा दिया है। जलभराव के कारण यातायात पर असर पड़ा है और साथ ही कई इलाकों में बिजली और पानी की सप्लाई में भी रुकावट आई है। मौसम विज्ञान केंद्र द्वारा जारी एक परिपत्र में आगे कहा गया है कि अगले दो दिनों तक, मध्यम से भारी वर्षा, तेज हवाओं के साथ जारी रहने की संभावना है।

शहर के कई हिस्सों में जलभराव की समस्या-

Delete Edit

दिन के मौसम पूर्वानुमान के अनुसार, आज लखनऊ के ऊपर एक मोटी निंबस कवर फैला होगा।  लखनऊ में विजीबिलीटी कम रहेगी और लोगों को केवल आपात स्थिति में ही बाहर निकलने की सलाह दी जाती है।

शहर में हजरतगंज, लालबाग, आशियाना, अलीगंज अर्जुनगंज, आईटी चौराहा, गोमती नगर के कई ब्लॉक जैसे कई अन्य क्षेत्रों में काफी ज्यादा जलभराव देखने को मिला। कथित तौर पर, खराब मौसम के चलते कई पेड़ भी उखड़ गए हैं और पूरे लखनऊ में बिजली आपूर्ति में समस्या पैदा हो गई है।

सड़कों के अलावा, बारिश का पानी आवासीय परिसरों और घरों में भी घुस गया है। कई वीवीआईपी समेत अन्य इलाकों में बिजली गुल होने से नागरिकों की परेशानी बढ़ गई है। साउथ सिटी निवासी दिव्यांश पांडे ने कहा, “पीजीआई के पास जलभराव प्रमुख है, और सबसे बुरी बात यह है कि कल रात लगभग 2-3 बजे से बिजली नहीं आ रही है। यहां पानी की सप्लाई भी बंद हो गई है।” कथित तौर पर, लखनऊ में महानगर और आलमबाग के लोग भी इसी तरह की परेशानियों का सामना कर रहे हैं।

 

आईएमडी लखनऊ ने जनता को केवल पक्के, संरचित भवनों में शरण लेने और खुली झोपड़ियों या कमज़ोर इमारतों से दूर रहने की सलाह दी है, जो बारिश या तेज हवाओं से प्रभावित हो सकती हैं। आईएमडी ने विशेष रूप से लोगों को आगाह किया है कि वे बिजली के खंभों के पास या अलग-अलग पेड़ों के नीचे न खड़े हों क्योंकि वे बिजली का संचालन करते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *