मुख्य बिंदु

अवध चौराहे के चारों तरफ की सड़कों पर फ्री लेफ्ट लेन तैयार की जाएंगीं।

लेन इस तरह तैयार होंगी कि सीधे जाने वाले ट्रैफिक के वाहन इसमें जबरन न घुस सकें।

करीब एक लाख वाहन इस चौराहे से पूरे दिन में गुजरते हैं।

जागरूकता के लिए साइनेज भी लगाए जाएंगे ताकि लेफ्ट फ्री लेन में गलत दिशा के वाहन न घुसें।

चौराहे पर यातायात सुगम करने के लिए यहां से ठेले-खोमचे और ई-रिक्शा भी हटाए जाएंगे। 

लखनऊ का अवध चौराहा शहर के सबसे व्यस्त चौराहों में से एक है। इस चौराहे पर भारी मात्रा में वाहनों का आवगमन होता है जिससे ट्रैफिक व्यवस्था इस चौराहे पर पूरी तरह बिगड़ जाती है। चौराहे लंबा जाम लग जाता जिसके कारण ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को रास्ता साफ करवाने के लिए घंटो कड़ी मशक्क्त करनी पड़ती है। इन्ही सारी समस्याओं को देखते हुए अवध चौराहा पर यातायात बेहतर और व्यवस्थित तरीके से चलाने के लिए कई बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इसके लिए चौराहे के चारों तरफ की सड़कों पर फ्री लेफ्ट लेन तैयार की जाएंगी। ये लेन इस तरह तैयार होंगी की सीधे जाने वाले ट्रैफिक के वाहन इसमें जबरन ना घुस सकें। अगर वाहन चालक गलत दिशा में जाएंगे तो उन्हें लंबा चक्कर लगाकर चौराहे पर ही आना होगा।

चौराहे से रोजाना गुजरते है 1 लाख वाहन 

लोक निर्माण विभाग इसी महीने काम शुरू कर देगा। लोक निर्माण विभाग के अधिकारीयों का कहना है कि करीब 1 लाख वाहन इस चौराहे से पूरे दिन में गुजरते हैं। इसमें लखनऊ जिले से बाहर का भी ट्रैफिक भी भारी मात्रा में रहता है। इसके साथ ही लखनऊ के अंदर आने जाने वाला ट्रैफिक भी मौजूद है। अवध चौराहा कानपुर रोड समेत कई विभिन्न जगहों को जोड़ता है जहां से भारी मात्रा में ट्रैफिक गुजरता है और अक्सर जाम की समस्या रहती है। 

कई मार्गो को जोड़ता है अवध चौराहा 

अवध चौराहे से कानपुर रोड हाईवे की ओर, दुबग्गा बाईपास से आने जाने वाला ट्रैफिक, लखनऊ अगर-एक्सप्रेसवे से आने वाला ट्रैफिक, वीआईपी रोड (रायबरेली रोड के लिए जाने वाली कनेक्टिंग रोड), आशियाना योजना की कनेक्टिंग रोड समेत चारबाग और आलमबाग जाने वाली रोड भी अवध चौराहे से होकर ही गुजरती है। इस कारण अवध चौराहे पर ट्रैफिक का दबाव अधिक रहने से रेड सिग्नल होने पर वाहनों की लंबी कतार लग जाती है। इसके चलते पीक टाइम में वाहन सवार तीन से चार बार ग्रीन सिग्नल होने पर ही चौराहा पार कर पाते हैं। इससे ट्रैफिक पुलिस को भी चौराहे पर पूरे दिन जाम से जूझना पड़ता है। 

गलत लेन में घुसे तो काटना पड़ेगा पूरा चक्कर 

अधिशासी अभियंता मनीष वर्मा ने बताया कि अब चौराहे पर सभी तरफ की रोड पर फ्री लेफ्ट लेन बनाई जाएगी। इस पर करीब 1.5 करोड़ रुपये खर्च किये जाएंगे और यह स्थायी व्यवस्था होगी। इसकी जागरूकता के लिए साइन बोर्ड भी लगाए जाएंगे ताकि लेफ्ट फ्री लेन में गलत दिशा के वाहन न घुसें। इसके लिए ग्रीन सिग्नल का इंतजार नहीं करना होगा। अगर कोई इस फ्री लेफ्ट लेन में आया भी तो उसे लंबा चक्कर काटकर वापस चौरहे से ही गुजरना होगा। अवध चौराहे पर यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए चौराहे से ठेले-खोमचे और इ-रिक्शा को भी हटवाया जाएगा। क्यूंकि इसके चलते भी चौराहे पर भारी ट्रैफिक रहता है जिससे जाम की समस्या बन जाती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *