लखनऊ की नई इलेक्ट्रिक बसों में दिव्यांजनों की यात्रा को सुगम बनाने के लिए एक विशेष पहल की शुरूआत की है। ई-बसों में दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए रैंप लगाए जा रहे हैं, जिससे विकलांग लोग अपनी व्हीलचेयर के साथ, आसानी से रैंप की मदद से बसों में प्रवेश कर पाएंगे। परिचालक की मदद से दिव्यांगजन बस के अंदर आएंगे, जिसके बाद उनकी व्हीलचेयर को एक जगह स्थिर रखने के लिए फीतों की मदद के कस दिया जाएगा। इन सब सुविधाओं के लिए, इ-बसों में खास व्यवस्था की जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार, कुछ दिन पहले इन बसों में व्हीलचेयर के साथ दिव्यांगजन को अंदर लाने और बाहर ले जाने के लिए दुबग्गा डिपो में ट्रायल भी किया गया।

शहर में दिव्यांगजनों का सफर होगा आसान

दिव्यांगजनों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए, बस में व्हीलचेयर को स्थिर रखने और संतुलन बनाए रखने के लिए फीते लगाए गए हैं, जिनके माध्यम से व्हीलचेयर को कस दिया जाएगा। इस विशेष व्यवस्था से यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि तेज़ ब्रेक लगने की स्थिति में उनका संतुलन बना रहे। यात्रा पूरी होने के बाद, दिव्यांगजन की व्हीलचेयर को फिर से रैंप की मदद से आसानी से नीचे उतार दिया जाएगा।

पुरानी सीएनजी बसों में दिव्यांगजनों के व्हीलचेयर के साथ सीधे प्रवेश के लिए कोई इंतज़ाम नहीं किए गए थे लेकिन इस नई पहल से दिव्यांगजनों के साथ उनके परिवारवालों को भी सुविधा होगी। अब आसानी से ये लोग शहर में एक जगह से दूसरी जगह जा सकते हैं।

सुरक्षित सफर के लिए डायल 112 से जुड़ेंगी ई-बसेंः यात्रियों का सफर सुरक्षित करने के लिए बस में पैनिक बटन और सीसीटीवी कैमरा भी लगाए गए हैं। बसों के संचालन शुरू होते ही इन बसों को डायल-112 से जोड़ दिया जाएगा। इससे सफर और सुरक्षित होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *