राज्य में आम की खेती को मज़बूत करने के लिए लखनऊ और आस पास के क्षेत्रों की मैंगो बेल्ट को मैंगो क्लस्टर के रूप में विकसित किया जा रहा है। इस प्रगतिशील कार्यक्रम को ‘मिशन फॉर इंटीग्रेटेड हॉर्टिकल्चर’ (Mission for Integrated Development of Horticulture) के तहत कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत, सरकार रसायनों के बेहतर उपयोग और आम की उन्नत किस्मों को अपनाने पर ज़ोर देगी।

20,000 हेक्टेयर से अधिक बागों को कवर किया जाएगा

केंद्र सरकार के क्लस्टर विकास कार्यक्रम के तहत मलीहाबाद, उन्नाव और रायबरेली समेत लखनऊ और आसपास के इलाकों में मैंगो बेल्ट विकसित की जाएगी। यह कदम किसानों की कमाई क्षमता में सुधार लाने और राज्य में आम की खेती की क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से शुरू किया गया है।

यह कार्यक्रम किसानों के कल्याण को भी बढ़ावा देगा क्योंकि सरकार आवश्यक प्री-प्रोडक्शन, प्रोडक्शन और पोस्ट-प्रोडक्शन हार्वेस्ट इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने, अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में सुधार, उत्पादन को एक व्यावसायिक दिशा प्रदान करने और एक्सपोर्ट बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करेगी।

इस कार्यक्रम के तहत 20,000 हेक्टेयर से अधिक आम के बागों को कवर करते हुए, सरकार यह ध्यान देगी कि उत्पाद की गुणवत्ता बनी रहे। सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि आम की उन्नत किस्मों को अपनाया जाए, इंटीग्रेटेड पेस्ट मैनेजमेंट का अभ्यास किया जाए और उचित स्टोरेज सुविधाएं उपलब्ध की जाएँ।

इसके अलावा, ग्रेडिंग, प्रोसेसिंग और पैकेजिंग की पूरी प्रक्रिया को व्यवस्थित करके बाग के प्रबंधन को और प्रभावशाली बनाने के लिए और तकनीकों का उपयोग किया जाएगा। इन सुविधाओं के अलावा, यह योजना किसानों को प्रशिक्षित करके क्षमता को बढ़ाने के लिए कार्यक्रम भी शुरू करेगी ताकि वे इस विकास योजना का सर्वोत्तम लाभ उठा सकें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *