उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर अब कम दिखाई दे रहा है। प्रदेश में मरीजों की रिकवरी बढ़ी है और मृत्यु दर में भी लगातार कमी आ रही है। प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 3,278 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 6,995 मरीज कोरोना से ठीक होकर डिस्चार्ज हुए हैं। वहीं, इस दौरान 188 लोगों की मौत दर्ज की गई हैं। वहीं प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बीते 10 दिनों से कोरोना के मामलों में लगातार कमी आई है। शहर में कोविड-19 संक्रमण का ग्राफ गिरकर 141 नए मामलों तक पहुंच गया है, जिससे बुधवार को बड़ी राहत मिली है। और इन आंकड़ों के साथ इस बात को भी कहना गलत नहीं होगा कि लखनऊ में कोरोना से हालत पहले के मुकाबले काफी बेहतर है। लखनऊ में कोरोना वायरस के अब तक कुल लगभग 2,37,153 मामले मिले है।

संक्रमण के कम होने से उत्तर प्रदेश में घटी ऑक्सीजन की मांग

उत्तर प्रदेश में बीते 10 दिनों में कोरोना के मामलों में भारी कमी आई है। अस्पताल में भर्ती मरीज अब ऑक्सीजन सपोर्ट पर ज्यादा निर्भर नहीं है और अस्पतालों में भी अब लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) की मांग में भारी कमी आई है। ऐसे में राज्य सरकार ऑक्सीजन की आपूर्ति को उद्योगों को डायवर्ट करने की संभावना भी तलाश रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि O2 ऑडिट सिस्टम ने लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन (LMO) की बर्बादी को काफी हद तक कम कर दिया है और संक्रमण की संख्या में उल्लेखनीय गिरावट के साथ ऑक्सीजन की मांग भी उतनी ही कम हो गई है। इसलिए, ऑक्सीजन की उपलब्धता को देखते हुए, औद्योगिक इकाइयों को अपनी गतिविधियों को चलाने के लिए इसका उपयोग करने की अनुमति दी जानी चाहिए।

कोविड -19 प्रबंधन टीम 9 की समीक्षा बैठक में, अधिकारियों ने इस बात पर प्रकाश डाला कि लगभग 47,483 कोरोना वायरस रोगी होम आइसोलेशन में हैं, जिन्होंने केवल 17 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग की है। वहीं, राज्य में 628 मीट्रिक टन एलएमओ का जलाशय उपलब्ध कराया गया है और इसमें से लगभग 356 मीट्रिक टन आपूर्ति केवल रीफिलर को ही दी गई है।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच ऑक्सीजन आपूर्ति की बढ़ी हुई मांग को पूरा करने के लिए अब तक विभिन्न जिलों में 414 ऑक्सीजन संयंत्रों को मंजूरी दी गई है। इन व्यवस्थाओं से उत्तर प्रदेश को तीसरी लहर की संभावित वृद्धि की भयावहता को कम करने में भी मदद मिलेगी और सीएम ने जिला प्रशासन को सभी गतिविधियों की लगातार निगरानी करने का निर्देश दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में लगभग 51 ऐसे संयंत्र पहले से ही काम कर रहे हैं जो सक्रिय मामलों में ऑक्सीजन की मांगों को पूरा करते हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट में भी पिछले 24 घंटों में 15 लोगों की मौत हुई है। यूपी में कोविड से रिकवरी रेट बढ़कर 95.4% हो गया है। बता दें कि यूपी में एक्टिव मामलों की संख्या घटकर 58,270 रह गई है। 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *