उत्तर प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर से प्रदेशवासियों को बचाने के लिए प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन लगा दिया था। उसके कुछ महीनों बाद ही कोरोना के केस कम होने पर सरकार ने साप्ताहिक लॉकडाउन की व्यवस्था को लागू कर दिया था। लेकिन अब जब पूरे प्रदेश में कोरोना के नए मामले बेहद कम मिल रहे है और हालात नियंत्रित है ऐसे में प्रदेश सरकार ने कोरोना कफ्यू में और ढील दी है और अब शनिवार को भी बाजार खुल सकेंगे। सरकार के नए आदेश के अनुसार अब सोमवार से शनिवार सुबह 6 बजे से रात 10 तक सभी गतिविधयों चालू रहेंगी, लेकिन रविवार को अभी कोरोना कर्फ्यू जारी रहेगा। ​इस दौरान कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के सभी मानकों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।

आपको बता दें की काफी समय से लखनऊ समेत प्रदेश के सभी व्यापारी साप्ताहिक लॉकडाउन को खत्म करने की मांग कर रहे थे। व्यापारियों का कहना था कि साप्ताहिक लॉकडाउन को अगर हटा दिया जाए तो व्यापार और बेहतर होगा जिससे आर्थिक गतिविधियों में तेजी आएगी और अर्थव्यवस्था को रफ्तार मिलेगी। 

आम जनता को कोरोना के वायरस से बचाने के लिए मुख्यमंत्री ने जिम्मेदार अधिकारीयों को निर्देश दिया है कि कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ ही आर्थिक गतिविधियों को तेजी से बढ़ाया जाए। ‘दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी’ के प्रति लोगों को विशेष रूप से जागरूक करते हुए आर्थिक गतिविधियां संचालित कराई जाएं। उन्होंने कहा कि कहीं भी अनावश्यक भीड़भाड़ न हो। पुलिस पेट्रोलिंग सतत जारी रहे। सरकार भी चाहती है कि आमजन को हर तरह से राहत मिले, लेकिन स्वास्थ्य की चिंता भी करनी ही होगी। प्रदेश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है।

प्रदेश में नियंत्रित है कोविड-19 वायरस 

अपर मुख्य सचिव (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण का असर लगातार कम होता जा रहा है, कोरोना के मरीजों की संख्या अब हर दिन घट रही है। फिर भी संक्रमण से बचाव के उपाय सख्ती के साथ किए जाने की जरूरत है। सभी लोग दो गज की शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें और मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं। अब तक प्रदेश में कुल 17.08 लाख लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और इसमें से 16.85 लाख रोगी स्वस्थ हो चुके हैं। अब तक कुल 22775 मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है। रिकवरी रेट 98.6 प्रतिशत है और पाजिटिविटी रेट 0.01 प्रतिशत है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *