राजधानी लखनऊ में ट्रैफिक डायवर्जन की व्‍यवस्‍था शुरू की जा रही है। उत्‍तर प्रदेश विधान मंडल का मॉनसून सत्र आज से शुरू हो रहा है। विधानमंडल का पिछला सत्र 18 फरवरी को शुरू हुआ था और वर्ष 2021-22 का बजट पारित करने के बाद चार मार्च को समाप्‍त हो गया था। इसी के चलते विधान भवन जाने वाले रास्तों पर यातायात बदला रहेगा। डीसीपी ट्रैफिक रईस अख्तर के मुताबिक, विधानसभा का यह सत्र संवेदनशील और महत्वूर्ण है।

सत्र के दौरान राजनैतिक दलों की ओर से विधानसभा के करीब धरना प्रदर्शन करने की संभावना को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि आज सुबह 9 बजे से कार्यक्रम समाप्ति तक डायवर्जन लागू रहेगा। सत्र करीब 15 दिनों तक चलेगा। शहर में धारा 144 लागू है। इसके साथ ही मंगलवार से शुरू हो रहे विधानसभा के वर्ष 2021 के द्वितीय सत्र को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं। विधानसभा सत्र तक विधानभवन से एक किलोमीटर के दायरे में ट्रैक्टर-ट्राली, तांगा, बैलगाड़ी, हथियार और ज्वलनशील पदार्थ लेकर आना प्रतिबंधित रहेगा। जेसीपी कानून व्यवस्था पीयूष मोर्डिया ने बताया कि शहर में धारा 144 लागू है।

इधर से न जाएं

बदरियाबाग चौराहे से, राजभवन, डीएसओ चौराहा, हजरतगंज, जीपीओ, विधानसभा।

डीएसओ चौराहा से हजरतगंज, जीपीओ पार्क, विधानसभा मार्ग।

रॉयल होटल चौराहे से विधानसभा के सामने से हजरतगंज चौराहा।

बड़े वाहन संकल्प वाटिका पुल से महानगर , विधानसभा नगर, सिकंदरबाग, हजरतगंज, विधानसभा की ओर।

केकेसी तिराहे से हुसैनगंज, रॉयल होटल, विधानसभा।

गोमतीनगर से बड़े वाहन, सिकंदरबाग, हजरतगंज, विधानभवन।

सिकंदरबाग चौरहे से हजरतगंज, विधानसभा

परिवर्तन चौक, हिंदी संस्थान तिराहे से हजरतगंज, विधान सभा।

डीएसओ चौराहा से सिसेंडी तिराहा, रॉयल होटल।

इधर से जाएं

लालबत्ती चौराहा से कैंट अथवा गोल्फ क्लब चौराहे के रास्ते।

पार्क रोड से मेफेयर तिराहे के रास्ते।

कैसरबाग चौराहा, परिवर्तन चौक, चिरैयाझील, सुभाष चौराहा, बर्लिंगटन और कैंट ओवर ब्रिज होकर के रास्ते।बैकुंठ धाम, 1090, गांधी सेतु से बंदरिया बाग और कैंट के रास्ते।

बैकुंठ धाम से संकल्प वाटिका ओवरब्रिज, चिरैयाझील से कैसरबाग अथवा गांधी सेतु, बंदरिया बाग से कैंट के रास्ते।

कैसरबाग अथवा चिरैयाझील, संकल्प वाटिका एवं सिकंदरबाग चौराहे से दैनिक जागरण चौराहे के रास्ते।

हजरतगंज चौराहे से मेफेयर, सिकंदरबाग अथवा रायल होटल चौराहे से बर्लिंग्टन चौराहा, कैंट के रास्ते।

सिकंदर बाग चौराहा, बालू अड्डा, गाँधी सेतु (1090) चौराहा या चिरैयाझील होते हुए। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *