लखनऊ के नादान महल रोड पर बिजली तारों के मकड़जाल से जल्द निजात मिलेगी। साथ ही जर्जर पोल भी हटाए जाएंगे। लेसा करीब 1 किलोमीटर लंबे रास्ते पर अंडरग्राउंड बिजली सप्लाई मुहैया कराएगा और विभाग इस पर करीब 10 करोड़ रुपये खर्च करेगा। इससे अशफारबाद, बिल्लौचपुरा, नेहरू क्रॉस के 20, 000 बिजली उपभोक्ताओं को बिजली कटौती और लो वोल्टेज से निजात मिलेगी।

नादान महल रोड एक व्यापारिक इलाका है, लेकिन चारों तरफ बिजली के तारों का मकड़जाल फैला हुआ है, जिससे कई बार शार्ट सर्किट से आग लग चुकी है। बिजली की मांग बढ़ने पर ट्रांसफार्मर भी फूंक चुके हैं। इलाके में 6 से 8 घंटे बिजली सप्लाई ठप रहती है। जिसके बाद निर्माणखंड के अधिकारीयों ने जर्जर तारों को बदलने की योजना बनाई है। इसके अलावा रोड कटिंग के लिए पीडब्लूडी से अनुमति भी मांगी है। लेसा, निर्माणखंड के अधिशासी अभियंता, एसके वर्मा ने बताया की नादान महल रोड के पास जर्जर बिजली के तारों को हटाकर अंडरग्राउंड किया जाएगा। इसके अलावा डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि की जाएगी, जिससे उपभोक्ताओं को बेहतर बिजली सप्लाई मिल सके।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *