जीवन में कई रुकावटों को पार करते हुए, लखनऊ की 16 वर्षीय सिमरन ने संयुक्त राज्य अमेरिका में अध्ययन करने के लिए एक प्रतिष्ठित छात्रवृत्ति प्राप्त करके बड़ी उपलब्धि हासिल की। यूएस स्टेट डिपार्टमेंट के कैनेडी-लुगर यूथ एक्सचेंज एंड स्टडी प्रोग्राम के तहत इस छात्रा ने कल अमेरिका के लिए उड़ान भरी। एक घरेलू सहायिका की बेटी, सिमरन ने सीमित संसाधनों और अन्य कठिनाइयों को अपनी सफलता के रास्ते में नहीं आने दिया, जिसके चलते वह आखिरकार एक उज्ज्वल भविष्य की ओर अग्रसर हैं।

 सिमरन यह छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाली राज्य में दूसरी लड़की हैं

2018 में, सिमरन ने लंबी बीमारी के बाद अपने पिता को खो दिया, लेकिन उसने पढ़ाई और आगे बढ़ने की दृढ़ इच्छाशक्ति बनाए रखी। स्टडी हॉल एजुकेशनल फाउंडेशन के प्रेरणा गर्ल्स स्कूल में कक्षा 10वीं की छात्रा ने अपनी माँ की आर्थिक मदद करने के लिए एक नौकरी भी की। कठिन समय के दौरान, उसने अपनी पढ़ाई और नौकरी दोनों को साथ में संभाला और इतनी कम उम्र में इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को अपने नाम दर्ज किया।

अब, वह अमेरिका जाने के लिए पूरी तरह तैयार है और उसकी आगे की पढ़ाई न्यूयॉर्क के वेस्ट सेनेका ईस्ट हाई स्कूल (West Seneca East High School) में जारी रहेगी। SHEF के दावे के मुताबिक, सिमरन यह स्कॉलरशिप पाने वाली राज्य की दूसरी लड़की है। उसकी छोटी बहन जिया प्रेरणा स्कूल में छठी कक्षा की छात्रा है।

बड़े सपनों और बड़ी उपलब्धियों की राह पर बढ़ाए कदम

अपनी उपलब्धि से उत्साहित सिमरन ने कहा, “यह मेरे लिए एक बहुत बड़ा अवसर है। मैंने छात्रवृत्ति के लिए कड़ी मेहनत की है और मैं अपने स्कूल से मिले समर्थन के लिए आभारी हूं। मैं विभिन्न संस्कृतियों के बारे में सीखना चाहती हूं और दूसरों को हमारी भारतीय संस्कृति बारे में सिखाना चाहती हूं।” उसने बताया कि न्यूयॉर्क में अपने 11 महीने के प्रवास के दौरान उसे हर महीने 100 अमरीकी डालर का मासिक भत्ता मिलेगा।

सिमरन की मां रेखा वर्मा ने कहा, “मुझे बहुत खुशी और गर्व है कि मेरी बेटी को इस छात्रवृत्ति के लिए चुना गया है। यह अवसर उसे एक उज्जवल भविष्य में ले जाएगा।” वहीं प्रेरणा गर्ल्स स्कूल की प्रिंसिपल राखी पंजवानी ने कहा कि स्कूल को उनकी इस उपलब्धि पर गर्व है। अपनी कड़ी मेहनत और प्रतिबद्धता के माध्यम से, सिमरन चयन प्रक्रिया से गुज़री और अब, वह बड़े सपनों और उससे भी बड़ी जीत को साकार करने की राह पर है!

– इनपुट: आइएएनएस

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *