लखनऊ मलिहाबाद के जेहटा (Jehta ) स्थित शहर का दूसरा सबसे बड़ा 400 केवी का ट्रांसमिशन पूरी क्षमता के साथ चालु हो गया है। यहां से शहर के 9 बिजलीघरों में बिजली सप्लाई होगी, इससे तकरीबन 4 लाख लोगों की बिजली की व्यवस्था में बड़ा लाभ पहुंचेगा। योजना से जुड़े चीफ इंजीनियर ट्रांसमिशन पियूष गर्ग के मुताबिक ट्रांसमिशन को चालू करने के लिए बीते 1 साल से ग्रिड से कोड लेने की प्रक्रिया चल रही थी। बीते 2 दिन पहले कोडिंग प्रक्रिया पूरी होते ही इसे चालू कर दिया गया। यह ट्रांसमिशन उपकेंद्र करीब 195 करोड़ की लागत से तैयार हुआ है। इस उपकेंद्र से कुर्सी रोड स्थित 400 केवी, उन्नाव के भरावल स्थित 400 केवी, रहीमाबाद स्थित 132 केवी और हरदोई रोड के 220 केवी के क्षमता वाले ट्रांसमिशन उपकेंद्र को जोड़ा गया है। इन ट्रांसमिशन से जुड़े शहर के करीब 9 बिजलीघरों की आपूर्ति में सुधार होगा। 

बदले जाएंगे उपभोक्ताओं के पुराने और खराब मीटर 

लेसा बिजली उपभोक्ताओं की मीटर संबंधी समस्या 15 दिन में दूर करेगा। विभाग की ओर विशेष कार्यक्रम तैयार किया गया है। इसके तहत अलग से एजेंसी लगाकर उपभोक्ताओं के खराब और पुराने मीटर उतारे जाएंगे। लगाए जाने वाले नए बिजली मीटरों को बिना किसी देरी के तुरंत फीड किया जाएगा और यह अभियान शुरू हो चुका है। लेसा इंजीनियर के अनुसार, 100 प्रतिशत बिलिंग और उपभोक्ताओं रीडिंग आधारित सही बिल उपलब्ध करवाने के लिए यह कदम उठाया गया है। योजना के तहत कभी बिल न जमा करने वाले, पुरानी तकनीक वाले मीटर और किसी कारण मीटर में आई तकनीकी खराबी आदि से जूझ रहे उपभोक्ताओं चिन्हित किया गया है। प्राथमिकता के आधार पर सबसे पहले इन्ही उपभोक्ताओं के यहां मीटर लगाए जाएंगे। इसके बाद कम राजस्व वसूली वाले और बिजली चोरी वाले इलाकों में उपभोक्ताओं के मीटर चेक कर बदले जाएंगे। इसके लिए मध्यांचल एमडी की ओर से लेसा में मीटर लगाने और इन्हे तुरंत फीड करने के लिए अलग से एजेंसी तैनात की गई है। इस काम के लिए विभाग के इंजीनियरों को 15 दिन का समय दिया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *