उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने भूमिगत एयरपोर्ट स्टेशन को सबसे तेज निर्माण पूरा होने का रिकॉर्ड दर्ज कराया है। लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में इसे शामिल किया गया है। उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के एमडी कुमार केशव ने मुख्य सचिव आरके तिवारी को प्रमाणपत्र की कॉपी भेंट की। 

एमडी कुमार केशव का कहना है कि एयरपोर्ट पर मेट्रो का भूमिगत स्टेशन का निर्माण केवल 19 महीने और 10 दिन में पूरा हुआ। इसका निर्माण कार्य 13 जुलाई, 2017 से लेकर 22 फ़रवरी, 2019 तक चला। एयरपोर्ट स्टेशन पूरे 22.878 किलोमीटर लंबे रेडलाइन रूट के 4 भूमिगत स्टेशनों में से एक है। यह भूमिगत स्टेशन सीधे लखनऊ एयरपोर्ट तक कनेक्टिविटी मेट्रो से यात्रा के दौरान यात्रियों को प्रदान करता है।

बता दें कि सीसीएस एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन का निर्माण लखनऊ मेट्रो परियोजना के बैलेंस सेक्शन के अंतर्गत हुआ था। इसके साथ-साथ लखनऊ मेट्रो परियोजना को देश में सबसे तेज़ गति के साथ निर्मित होने वाली मेट्रो परियोजना का दर्जा भी हासिल है। यूपीएमआरसी ने परियोजना के संपूर्ण उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर का निर्माण 4.5 सालों से भी कम समय में पूरा किया था, जो निर्माण कार्य पूरा करने की प्रस्तावित समय-सीमा से 36 दिन पूर्व था। आपको बता दें कि 2017 से लेकर अभी तक 3.25 करोड़ से भी अधिक यात्री लखनऊ मेट्रो की सवारी कर चुके हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *