उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन लिमिटेड नें अपने उत्कृष्ट कार्य से कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं। हाल ही में लखनऊ मेट्रो परियोजना को ऊर्जा संरक्षण (energy efficient initiatives) के क्षेत्र में योगदान के लिए एनर्जी कंज़र्वेशन अवार्ड 2021 पुरस्कार (Energy Conservation Award, 2021) से सम्मानित किया गया। लखनऊ मेट्रो ने शुरू से ही ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र बेहद महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। मेट्रो के सभी स्टेशनों और ट्रेनों में 100 प्रतिशत एलईडी लाइट का इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही मेट्रो ट्रेनों में रीजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम (Regenerative Braking) तकनीक का उपयोग किया जाता है जिससे बड़ी मात्रा में बिजली की भारी बचत होती है।

लखनऊ मेट्रो परियोजना में उपयोग किए जाने वाले रोलिंग स्टॉक (Rolling stock) में रीजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम (Regenerative Braking) तकनीक के प्रयोग से ऊर्जा संरक्षण की क्षमता 40 प्रतिशत है। रोलिंग स्टॉक (Rolling stock) के अलावा लखनऊ मेट्रो के सभी मेट्रो स्टेशनों की लिफ्टों में भी रीजेनरेटिव ब्रेकिंग सिस्टम (Regenerative Braking) तकनीक का उपयोग किया जा रहा है, जिससे इनकी ऊर्जा संरक्षण की क्षमता 37 प्रतिशत हो गई है। इन प्रयोगों से न केवल पर्याप्त मात्रा में ऊर्जा की बचत होती है बल्कि कार्बन फुट प्रिंट कम होता है। यूपी मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने अपने परिसर में कुल 1.38 मेगावाट को सोलर प्लांट भी स्थापित किया है। ट्रांसपोर्ट नगर मेट्रो डिपो में 1.1 मेगावाट क्षमता का सोलर प्लांट लगाया गया है। इसके साथ ही यूपीएमआरसी की पीआरओ, नैन्सी अग्रवाल ने बताया कि लखनऊ मेट्रो के सभी स्टेशनों पर सोलर प्लांट लगाने की योजना है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *