लखनऊ के ऐतिहासिक चारबाग़ रेलवे स्टेशन को अब नए मॉडल पर और आधुनिक और खुबसुरत बनाया जाएगा। चारबाग रेलवे स्टेशन के नवीनीकरण की तैयारी जोर शोर से शुरू हो गयी है। इस स्टेशन को विश्व स्तरीय सुविधाओं से लैस किया जाएगा और एक विदेशी एयरपोर्ट की तरह इसका सुंदरीकरण किया जाएगा। पहले इसे पीपीपी मॉडल पर बनाने की योजना थी, वहीं अब डिज़ाइन-बिल्ड-ऑपरेट-फाइनेंस-ट्रांसफर (Design-Build-Operate-Finance-Transfer (DBFOT)  मॉडल पर बनाया जाएगा। इसके लिए रेल भूमि विकास प्राधिकरण (Rail Land Development Authority) ने 556.8 करोड़ रुपए के पुनर्विकास प्रोजेक्ट के लिए डेवेलपर्स के लिए प्री-बिड मीटिंग 9 अप्रैल को आयोजित की गई थी और आवेदकों के अंतिम तारीख 24 जून है। 

स्टेशन के पुनर्विकास में 12.23 एकड़ कमर्शियल भूखंड का विकास होगा 

चारबाग रेलवे स्टेशन और गोमतीनगर स्टेशन को अत्याधुनिक बनाने का जिम्मा रेल भूमि विकास प्राधिकरण को सौंपा गया है। गोमतीनगर स्टेशन का डेवलपमेंट शुरू भी हुआ, लेकिन चारबाग के विकास से नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन (National Building Construction Corporation) ने हाथ खड़े कर दिए, जिससे यह काम ठप हो गया। चारबाग रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास में 12.23 एकड़ कमर्शियल भूखंड के साथ चारबाग़ और लखनऊ जंक्शन का विकास होगा। ​आरएलडीए ने नए सिरे से तैयारी की। अब स्टेशन को 556.8 करोड़ रुपये की कुल लागत से डिजाइन-बिल्ड-ऑपरेट-फाइनेंस-ट्रांसफर (डीबीएफओटी) मॉडल पर दो चरणों में पुनर्विकसित किया जाएगा। एयर-कॉनकोर्स, फुट-ओवर ब्रिज, लिफ्ट और एस्केलेटर व दिव्यांग यात्रियों के अनुकूल सुविधाएं आदि शामिल हैं। पहले चरण का पुनर्विकास तीन वर्षों में होगा जिसपर 442.5 करोड़ रुपये की लागत आएगी। जबकि दूसरे चरण में दो वर्षों में 114.3 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इस नए प्रोजेक्ट में स्टेशन परिसर में फुट-ओवर ब्रिज, लिफ्ट, एस्केलेटर, एयर-कॉनकोर्स और दिव्यांग यात्रियों के विशेष सुविधाएं आदि शामिल हैं।

रेल भूमि विकास प्राधिकरण के वाईस चेयरमैन, वेद प्रकाश डुडेजा ने बताया कि चारबाग स्टेशन के पुनर्विकास से शहर के पर्यटन उद्योग को काफी फैयदा मिलेगा और रोजगार के अधिक अवसर बढ़ेंगे। स्टेशन के डिजाइन में ग्रीन बिल्डिंग कॉन्सेप्ट को शामिल किया जाएगा। इसके साथ ही मौजूदा ऐतिहासिक भवन के हेरिटेज स्वरूप को भी बरकरार रखा जाएगा। इस पुनर्विकास से शहर के रियल एस्टेट सेक्टर को भी बढ़ावा मिलेगा। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *