लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर अब यात्रियों की कोरोना जांच की जाएगी और आधे घंटे के अंदर आरटीपीसीआर रिपोर्ट यात्रियों को दे दी जाएगी। अमौसी एयरपोर्ट स्थित इंटरनेशनल टर्मिनल पर अब कोविड टेस्टिंग करने के लिए 30 मशीनें लगा दी गई हैं। ये मशीनें डिपार्चर हॉल में लगाई गई है। एक मशीन 30 मिनट में दो यात्रियों को रैपिड पीसीआर जांच कर रिपोर्ट देने की क्षमता रखती है। मशीन लगने के बाद बीते गुरुवार को दुबई और शारजाह के लिए इंडिगो, एयर इंडिया और फ्लाई दुबई की उड़ाने 350 यात्रियों को लेकर रवाना हुई। फ्लाइट में बैठने से पहले इन सभी की आरटीपीसीआर जांच की गई।

दुबई ने इस महीने की शुरुआत में अपने दरवाजे भारत के यात्रियों के लिए खोले तो शर्त सख्त रख दी। इसमें पहली शर्त यह थी कि यात्री को कोविड टीके के दोनों डोज लगे हों लेकिन यूएई (UAE) में ही। इक्का दुक्का को छोड़कर अधिख्तर यात्री पहले ही वंद भारत मिशन के तहत रेस्क्यू उड़ानों से भारत आ गए थे। दूसरी शर्त थी कि बोर्डिंग से चार घंटे पहले की क्यू आर कोड वाली रैपिड पीसीआर रिपोर्ट होनी चाहिए। बिना एयरपोर्ट पर मशीन लगे यह जांच संभव नहीं थी। ऐसे में अडानी एयरपोर्ट प्रशासन ने ये मशीनें लगवाई। ओमान और अन्य खाड़ी देशों को मिला लें तो ढाई से तीन लाख यात्रियों के लिए वापसी का संकट हो गया था और अब इससे लोगों को राहत मिलेगी। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *