लखनऊ में आम जनता के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। शहर में जल्द ही 5 अस्पतालों की सौगात मिलने जा रही है। इससे लखनऊ में दूर-दराज इलाके के लोगों को छोटी बीमारियों के इलाज के लिए बड़े अस्पतालों तक बार बार दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई है, जल्द ही इन अस्पतालों का लोकार्पण होगा। सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने बताया कि यह सभी अस्पताल सरोजनीनगर के बेती में पीएचसी, फैजुल्लागंज के आदिलनगर पीएचसी, बेहटा में सीएचसी, मलिहाबाद में महदोइया में पीएचसी, गोसाईगंज में 50 एमसीएच विंग का होगा। 

ग्रामीण इलाके के लोगों को मिलेगा बड़ा फायदा 

ग्रामीण इलाकों में सरकारी अस्पतालों की काफी कमी है। शहर से दूर- दराज के इलाकों में रहने वाले लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया करवाने के लिए यह 5 अस्पताल बनाए गए हैं। इनमें जरूरी संसाधन भी जुटा लिए गए है। सीएमओ डॉ. मनोज अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि जल्द ही अस्पतालों का लोकार्पण होगा। इसके बाद अस्पतालों में मरीजों को इलाज मिलने लगेगा। सबसे ज्यादा सुविधा गोसाईगंज के मदर एंड चाइल्ड केयर हॉस्पिटल से होगी, 50 बेड के इस अस्पताल में गर्भवती महिलाओं को इलाज मिलेगा। इसमें सामान्य सुविधा के साथ साथ ऑपरेशन से प्रसव की भी सुविधा मिलेगी। गंभीर रूप से बीमार गर्भवती महिलाओं को भी इलाज मिल सकेगा। अभी इन इलाकों की महिलाओं का इलाज सामुदायिक स्वास्थय केंद्र में ही संभव था। संसाधन सिमित होने के नाते मरीजों को डफरिन अस्पताल, झलकारी बाई महिला अस्पताल और क्वीन मैरी अस्पताल रेफेर किया जा रहा है। सीएमओ ने बताया कि 5 अस्पताल खुलने से मरीजों को इलाज के लिए लंबा सफर तय नहीं करना पड़ेगा। सीएचसी में 30 बेड होंगे। पीएचसी में 4 बेड की सुविधा होगी। वहीं शहर से मरीजों का दबाव भी कम होगा इससे गंभीर मरीजों को बेहतर इलाज मिल सकेगा और स्वास्थ्य सुविधा का लाभ लोग आसानी से उठा सकेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *