लखनऊ को स्मार्ट सिटी के तहत स्वच्छ बनाने के लिए जिला प्रशासन कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है। शहर में अभी जगह जगह कूड़ा इखट्टा हो जाता है, लोग खुले में कूड़ा फेंक देते है साथ ही कूड़ा ढोने वाला वाहन चालकों द्वारा भी कई बार लापरवाही की जाती है जिससे गंदगी और प्रदुषण फैलता है। इन्ही सारी समस्याओं को देखते हुए अब लखनऊ में कूड़ा निस्तारण के लिए अब अंडरग्राउंड कूड़ाघर का इस्तेमाल होगा।

स्प्रिंग टेक्नोलॉजी पर आधारित अंडरग्राउंड स्मार्ट बिन का इस्तेमाल फ़िलहाल दिल्ली, मुंबई और सूरत में हो रहा है। ये स्मार्ट बिन करीब 7 फुट की गहराई में रखे जाते है। भरने के बाद इन्हे हाइड्रोलिक मशीन की मदद से कूड़ा गाड़ी में रखकर शिविर प्लांट तक पहुंचाया जा सकेगा। यही नहीं, स्मार्ट बिन से लिचेट रिसने की आशंका भी नहीं होगी और ढुलाई के दौरान कूड़ा सड़क पर भी नहीं गिरेगा।

पहले चरण में शहर के प्रमुख चौराहों पर स्मार्ट बिन लगाए जाएंगे

शुरुआती दौर में चारबाग स्टेशन, चारबाग बस स्टैंड, पीजीआई, हजरतगंज, पॉलिटेक्निक चौराहा, भूतनाथ चौराहा समेत 20 प्रमुख चौराहों पर स्मार्ट बिन लगाए जाएंगे। जानकारी के मुताबिक, इन चौराहों पर ट्रायल सफल रहा तो दूसरे चरण में 20 और चौराहों पर स्मार्ट बिन बनाए जाएंगे। नगर निगम अफसरों के मुताबिक, हर जोन के कुछ चौराहों पर अंडरग्राउंड कूड़ाघर बनाए जाएंगे। नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी ने इसके लिए मंजूरी भी दे दी है।

स्वच्‍छ भारत मिशन कंसलटेंट दिलीप मौर्या ने बताया कि स्मार्ट बिन स्प्रिंग टेक्नोलॉजी पर आधारित है। इसमें दो-दो मीटर चौड़ा और 7 फुट गहरा गड्ढा खोदा जाएगा। इसमें लोहे का कंटेनर डाला जाएगा, जिसमें हाइड्रोलिक सिस्टम होगा। नगर निगम की कूड़ा उठाने वाली गाड़ी एक पाइप स्मार्ट बिन में डालेगी, जिससे स्मार्ट बिन जमीन से उठाकर गाड़ी में कूड़ा डाल देगा। हर चौरहे पर नीला और हरा रंग के दो स्मार्ट बिन होंगे। पर्यावरण अभियंता पंकज भूषण ने बताया कि शहर के प्रमुख चौराहों पर अंडरग्राउंड स्मार्ट बिन लगाए जाएंगे, इसके लिए मंजूरी मिल गई है जल्द ही चयनित स्थान पर बिन लगाने का काम शुरू होगा। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *