हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (Hindustan Aeronautics Limited) द्वारा लखनऊ के हज हाउस में एक 225 बेडों की सुविधा वाला एक अस्थायी कोविड अस्पताल का निर्माण कार्य जारी है जिससे शहर पर बढ़ रहे मेडिकल संसाधनों का बोझ थोड़ा हल्का हो सके। यहां पुरज़ोर तरीके से तैयारियां चल रही हैं जिससे अगले सप्ताह तक यह अस्थायी कोविड अस्पताल कार्यात्मक हो सके। सरोजनी नगर स्थित यह केंद्र लेवल 3 उपचार केंद्र की तरह कार्य करेगा जिससे कोरोना मरीजों को बेड मिलने में आसानी होगी और एक बेहतर उपचार मिलेगा।

अगले एक हफ्ते में शुरू होगा हज हाउस में कोरोना अस्पताल


हज हाउस को एक कोविड अस्पताल में परिवर्तित करने का विकासात्मक कार्य तेज़ गति से चल रहा है। इस हॉस्पिटल में गंभीर कोरोना रोगियों के इलाज की सुविधा के लिए आईसीयू बेड और मशीनों, उच्च-निर्भरता बेड और अन्य मेडिकल उपकरणों की व्यवस्था है। रिपोर्ट के अनुसार, हज हाउस में कोरोना मरीजों के लाभ के लिए 100 उच्च-प्रवाह वाले नाक के प्रवेशनी सपोर्ट ( high-flow nasal cannulas) और 25 वेंटिलेटर होंगे।


अस्पताल के हर बेड और वार्ड में पर्याप्त ऑक्सीजन सप्लाई के लिए यहां पर ऑक्सीजन पाइप लगाए गए हैं। एक समर्पित ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट स्थापित करने के लिए आवश्यक ऑक्सीजन सिलेंडर और अन्य उपकरणों को भी लाइन में रखा गया है और जल्द इसे स्थापित किया जाएगा।


केंद्र को उच्च तकनीक वाले कोविड L-3 केंद्र के रूप में तैयार किया जा रहा है, जिसमें कई बिजली से चलने वाले उपकरण और सेवाएं हैं। इसलिए, यह सुनिश्चित करने के प्रयास किए जा रहे हैं कि हज हाउस में निरंतर बिजली की सप्लाई रहे और किसी भी समय बिजली की कटौती का सामना न करना पड़े। यह अस्पताल पूरी तरह से एयर कंडिशन्ड होगा। अस्पताल को विभिन्न वॉर्डों में विभाजित किया जाएगा जिससे लक्षणों और संक्रमण की गंभीरता के आधार पर सबको अलग अलग विशेष उपचार प्राप्त हो सके।


मेडिकल टीम, स्टाफ और पैरामेडिकल टीम के खाने के लिए एक रसोई की सुविधा भी होगी। अभी फिलहाल जनरल देखरेख का काम चल रहा है जैसे की पुताई और सफाई ताकि मरीज़ों के आने के पहले सफाई का स्तर सर्वोत्तम हो। इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखा गया है की मरीज के परिजनों को समय से मरीज की सेहत का पता चलता रहे उसके लिए भी विशेष व्यवस्था की जा रही है। अस्पताल परिसर में अलग से मरीजों के परिजनों के ठहरने और खाने पीने की व्यवस्था निःशुल्क होगी।