केजीएमयू लखनऊ की डॉक्टर सानिया राउफ ने कोरोना काल में ई-संजीवनी पोर्टल के जरिए डॉक्टर सानिया राउफ ने देश में सबसे ज्यादा मरीजों को सलाह देने का खिताब हासिल किया है।उन्हें मोहाली के सी-डैक संस्थान के 33 वें स्थापना दिवस पर सम्मान से नवाजा गया है। डॉक्टर सानिया राउफ फिजिशियन हैं। केजीएमयू के प्रवक्ता डॉक्टर सुधीर सिंह ने बताया कि उन्होंने 50 हजार मरीजों को सलाह दी है।


कुलपति डॉक्टर बिपिन पुरी और डॉक्टर शीतल वर्मा ने उन्हें बधाई दी है। कोरोना काल में ई-संजीवनी के साथ ही टेलीमेडिसिन सेवा शुरू की गई। हालांकि, सामान्य दिनों के मुकाबले 10 फीसदी मरीज भी इसका लाभ नहीं उठा पा रहे थे। वहीं, ई-संजीवनी पोर्टल को ज्यादा पसंद किया गया। केजीएमयू में सामान्य दिनों में ओपीडी का आंकड़ा 10 हजार के करीब होता है। ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से फोन के साथ ही वीडियो कॉल की सुविधा भी दी जा रही है।


इसका फायदा उठाने के लिए सबसे पहले प्ले स्टोर से ई-संजीवनी एप को इंस्टॉल किया जाता है। पेशेंट रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करके मोबाइल नंबर डालकर इस पर आए ओटीपी को डालकर रजिस्टर्ड किया जाता है। एमएमएस के माध्यम से नोटिफिकेशन मिलने पर लॉगइन कर अपनी बारी आने पर डॉक्टर को दिखाया जाता है। जरूरतमंद लोग घर से ही केजीएमयू के विशेषज्ञों के साथ सीधे संपर्क कर सभी ओपीडी सेवाओं के लिए नि:शुल्क परामर्श हासिल करते हैं।

केजीएमयू डॉ. सूर्यकान्त कोविड-19 लीडरशिप पुरस्कार से सम्मानित


केजीएमयू रेस्पाइरेटरी मेडिसिन विभाग के अध्यक्ष डॉ. सूर्यकान्त को लखनऊ मैनेजमेन्ट एसोसिएशन (एलएमए) द्वारा कोविड-19 लीडरशिप पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उन्हें कोरोना महामारी के दौरान चिकित्सकीय क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान, समाज को जागरूक करने एवं समाजिक सेवा कार्यों के चलते प्रदान किया गया है।