कोरोना महामारी के बीच लखनऊ में कोरोना संक्रमितों के लिए एक और हॉस्पिटल शुरू हो गया है। शहर के हज हाउस में राज्य सरकार और एचएएल के सहयोग से बनाये गए इस कोविड हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित मरीजों की भर्ती शुरू हो गई है। कुल 255 बेड का यह हॉस्पिटल एल-2 और एल-3 बेड की सुविधा से लैस है। यहां 25 वेंटिलेटर, 100 एचएफएनसी बेड व 130 ऑक्सीजनयुक्त बेड हैं।


हॉस्पिटल में ट्राएज एरिया के साथ भर्ती मरीजों की सेहत की जानकारी उनके परिवारीजन को देने के लिए हेल्पडेस्क भी बनाई गई है। इसके जरिये रोजाना दोपहर 3 से शाम 5 बजे तक मरीजों का हाल जान सकेंगे। वहीं, कंट्रोल रूम से सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से रोगियों की निगरानी होगी।


हॉस्पिटल में करीब 150 ऑक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था की गई है। इसके साथ सरकार ने हॉस्पिटल को चलाने लिए सभी आवश्यक आपूर्ति उपलब्द कराने भी भरोसा दिया है। हॉस्पिटल में उत्तम आधुनिक चिकित्सा सुविधा मौजूद है।

उत्तर प्रदेश का पहला हॉस्पिटल जो मात्र 14 दिन में तैयार हुआ


एचएएल द्वारा बनाए गए इस कोविड हॉस्पिटल का निर्माण कार्य सबसे कम समाय में हुआ है। प्रशासन के अनुसार उत्तर प्रदेश में यह पहला ऐसा हॉस्पिटल है जो मात्र 14 दिन में तैयार हो गया। इस हॉस्पिटल का 9 मई को ड्राई रन भी सफलतापूर्वक पूरा हो चूका है।

प्रदेश ऑक्सीजन की सप्लाई मंगलवार अपने रिकॉर्ड स्तर पर

अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि बीते 24 घंटों में होम आईसोलेशन के 4604 मरीजों को 32.475 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की अपूर्ति सिलेंडरो से की गई है। उन्होंने बताया कि बीते 24 घंटों में 1011.79 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जो आपूर्ति की गई है उसमें 632.96 मीट्रिक टन ऑक्सीजन खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन द्वारा और 301.80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मेडिकल कालेजों व चिकित्सा संस्थानो को तथा 77.03 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति ऑक्सीजन सप्लायर्स द्वारा सीधे निजी चिकित्सालयों को की गई है।