लखनऊ में टीकाकरण की प्रक्रिया में तेज़ी लाने के लिए अब शहर का ऐतिहासिक छोटा इमामबाड़ा एक टीकाकरण केंद्र में बदला गया है। यह फैसला जिला स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार रात को लिया जब स्वास्थ्य अधिकारियों ने साइट पर दौरा किया। सभी 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोग जिन्हे कोरोना का टीका लगवाना है वे छोटा इमामबाड़ा में जल्द ही टीका लगवा सकेंगे।

साइट सर्वेक्षण पूरा हो चूका है


लखनऊ के ऐतिहासिक छोटा इमामबाड़ा को अब टीकाकरण केंद्र में बदला जा रहा है। स्वास्थ्य अधिकारियों की एक टीम ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी और जिला टीकाकरण अधिकारी के साथ मिलकर गुरुवार रात को यह निर्णय लेने से पहले साइट का दौरा किया। उनके साथ मजलिस-ए-उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना कल्बे जव्वाद भी थे। जिला टीकाकरण अधिकारी ने बताया कि साइट (छोटा इमामबाड़ा) की ठीक तरह जांच के बाद यह निर्णय लिया गया है। इसके अलावा, यह केंद्र कब और कैसे पूरी तरह से कार्य करेगा, यह जल्द ही तय किया जाएगा।

ऐतिहासिक स्थलों को टीकाकरण सेंटर में क्यों बदला जा रहा है?

छोटा इमामबाड़ा लखनऊ शहर का एक प्रमुख पर्यटक आकर्षण है जिसकी देखरेख हुसैनाबाद और एलाइड ट्रस्ट द्वारा की जाती है। गौरतलब है की इस कार्य के लिए छोटा इमामबाड़ा, ऐशबाग ईदगाह के बाद चुना गया दूसरा ऐतिहासिक स्मारक है। उम्मीद है कि ऐतिहासिक स्थानों को टीकाकरण केंद्र के रूप में उपयोग करने से आस-पास रहने वाले लोगों को जल्द से जल्द टीका लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकेगा।

- आईएएनएस से इनपुट्स के साथ