मंगलवार को लखनऊ के राम मनोहर लोहिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज (Ram Manohar Lohia Institute of Medical Sciences) में 44 बेडों की एक पोस्ट कोविड सुविधा का उदघाटन किया गया। एनेस्थिसियोलॉजी (Anesthesiology) और क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग (Critical Care Medicine) के तहत स्थापित, यह सुविधा पोस्ट-कोविड जटिलताओं से पीड़ित रोगियों का इलाज करेगी। उपलब्ध बिस्तरों में से 24 आईसीयू को समर्पित होंगे, जिसे गंभीर जटिलताओं वाले रोगियों के इलाज के उद्देश्य से स्थापित किया गया है।

मरीजों का होगा मुफ्त इलाज


डॉ.पी.के दास, डॉ. विक्रम सिंह और डॉ. श्रीकेश सिंह सहित कई चिकित्सा प्रोफेशनल्स की उपस्थिति में एक पोस्ट-कोविड देखभाल सुविधा का उद्घाटन किया गया है। यह सुविधा कोरोनो वायरस संक्रमण से रिकवर होने के बाद की परेशानियों से पीड़ित रोगियों को बहुत राहत देगी।

यह सेटअप तब स्थापित किया गया है जब यह देखा गया कि आरटी-पीसीआर परीक्षण (RT-PCR test ) रिपोर्ट के नेगेटिव होने के बावजूद, रोगी गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित थे। कुछ रोगियों को ठीक होने के बाद जीवित रहने के लिए ऑक्सीजन सपोर्ट की भी आवश्यकता होती है, जिसके कारण उन्हें घर भेजना कुछ मामलों में घातक साबित होता है। यह सुविधा ऐसे व्यक्तियों को बेहतर देखभाल और उपचार प्रदान करने में मदद करेगी।

इसके अलावा, यह बताया गया है कि इस पोस्ट-कोविड देखभाल क्षेत्र में भर्ती मरीजों से यहां मिलने वाले बिस्तर और उपचार के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। यह निर्णय जनता के लाभ के लिए जारी किया गया है, जो पहले से ही इस कठिन समय में आर्थिक नुकसान से जूझ रहा है।

राम मनोहर लोहिया में ओपीडी सेवाएं सोमवार को फिर से शुरू हो गईं

लखनऊ में कोरोना के मामलों में उल्लेखनीय गिरावट दर्ज की गई है, जिस कारण राम मनोहर लोहिया अस्पताल ने अपनी ओपीडी सेवाओं को फिर से शुरू कर दिया है। मंगलवार को राम मनोहर लोहिया में ओपीडी के मरीजों की संख्या काफी अधिक थी, जिसके कारण काउंटरों पर भीड़ जमा हो गई। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले दिनों में ओपीडी में लोगों की आमद काफी ज्यादा होगी, इसलिए अस्पताल प्रशासन ने सभी की जरूरतों को पूरा करने के लिए इंतजाम करने शुरू कर दिए हैं।