पूरा देश इस वक्त कोरोना की दूसरी लहर के संकट से जूझ रहा है, इस घातक वायरस को नष्ट करने के लिए कोई विशिष्ट दवा उपलब्ध नहीं होने के कारण, अकल्पनीय आशंकाओं और अनिश्चितताओं ने हमारे जीवन को जकड़ लिया है। ऐसी परिस्थितियों में, यह आवश्यक है कि हम अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाएं जिससे ज़रूरत पड़ने पर हमारा शरीर इस जानलेवा वायरस से लड़ सके। तो, हम आपको 9 सरल उपायों के बारे में बताएंगे. जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system)को बेहतर बनाने में मदद करेंगे।

पोषक एवं प्रोटीन युक्त खाना खाएं


संतुलित और पौष्टिक आहार एक मज़बूत प्रतिरक्षा प्रणाली (इम्यून system)और खुशहाल जीवन की कुंजी है। विशेषज्ञ सलाह देते हैं, कि इस समय में प्रोटीन युक्त चीज़ों से भरपूर खाना,अत्यधिक फायदेमंद हो सकता है। इसके अतिरिक्त, ताजे फलों और हरी सब्जियों को अपने दैनिक भोजन में शामिल करना न भूलें। आपको यह भी सुनिश्चित करना होगा कि आप दिन में समय पर खाना खाएं, जिससे आपके शरीर को सभी पोषक तत्व मिल सकें।

पर्याप्त मात्रा में पानी और तरल पदार्थ पिएं


आमतौर पर शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए, एक दिन में 8-10 गिलास पानी पीने का सुझाव दिया जाता है। लगातार पानी और तरल पदार्थों का सेवन, आपको कई प्रकार की बीमारियों से बचाए रखने का सबसे सरल और अच्छा उपाय है। खुद को लगातार हाइड्रेट रखने से, शरीर में से विषैले व हानिकारक तत्व बाहर निकल जाते हैं। वैसे तो, पानी आपके दैनिक जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, लेकिन आप नारियल के पानी जैसे अन्य पौष्टिक तरल पदार्थों का भी उपयोग कर सकते हैं, जो आपको तरोताज़ा और स्वस्थ रखेंगे।

अपनी दिनचर्या में योग और व्यायाम को करें शामिल


अगर आप चाहते है कि आपके शरीर के आंतरिक अंग ठीक से काम करते रहें और स्वस्थ रहें, तो नियमित व्यायाम या योग करना बहुत महत्वपूर्ण है। साधारण योगिक मुद्राओं से लेकर कई प्रकार के व्यायामों तक, आप अपनी क्षमता के अनुसार, अपने लिए सही विकल्प चुन सकते हैं, लेकिन इसे लगातार करना ज़रूरी है। वर्तमान समय में, विशेषज्ञों और डॉक्टरों के अनुसार, अपने फेफड़ों को फिट और स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से ब्रीदिंग एक्सरसाइज (breathing exercise) करना है लाभदायक।

शराब और निकोटीन का सेवन करें बंद:


कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि, शराब और तंबाकू का सेवन शरीर के आंतरिक अंगो और उनकी कार्य प्रणाली पर दुष्प्रभाव डालता है, और इसे कमज़ोर बनाता है। यदि आप संक्रमणों के खिलाफ सुरक्षा चाहते हैं, तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप अपनी शराब और निकोटिन के सेवन से दूर रहें। ऐसा करने से न केवल आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होगी, बल्कि आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा!

पर्याप्त नींद लें और आराम करें।


भले ही आप आराम कर रहे हों, या व्यायाम कर रहे हों, शरीर में हमेशा कई आंतरिक मेटाबॉलिक प्रक्रियाएं चलती रहती हैं। पर्याप्त समय के लिए नींद लेना आवश्यक है ताकि शरीर अगले दिन की गतिविधियों के लिए तैयार हो सके। जब शरीर को कम से कम 7-8 घंटे की अच्छी नींद मिलती है, तो हमारा शरीर और मस्तिष्क प्रभावी ढ़ंग से काम करने में सक्षम होता है, और इसका हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी बहुत असर पड़ता है।

सप्लीमेंट्स लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें


चूंकि वायरस नए म्यूटेंट और प्रवर्धित लक्षणों के साथ हर दिन और भी खतरनाक होता जा रहा है, इसलिए कुछ डॉक्टर शरीर की रक्षा प्रणाली को पोषण देने के लिए विटामिन सी और जिंक जैसे सप्लीमेंट्स लेने की सलाह देते हैं। यदि समय पर शरीर को सही चीजें मिलती हैं, तो यह निश्चित रूप से संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में मदद करेगा। यहां, यह महत्वपूर्ण है कि आप सावधानीपूर्वक डॉक्टर की सलाह का पालन करें और अपने मन से दवाई न लें।

आर्युवेद के साथ बढ़ाए अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता


आयुष मंत्रालय के अनुसार, कई प्राकृतिक घरेलू विकसित उपचार आपको हानिकारक कीटाणुओं और रोगाणुओं के खिलाफ अपने प्रतिरोध (immunity) को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। जहां महामारी की शुरुआत के बाद से ही काढ़ा लोकप्रिय बना गया है, वहीं अन्य हर्बल तरीकों से भी आप अपने स्वास्थ्य को बेहतर बना सकते हैं, और इम्यूनिटी को और भी मज़बूत। प्राधिकरण द्वारा अनुशंसित कई चीज़ों में, च्यवनप्राश और हल्दी दूध का सेवन भी शामिल है!

पर्याप्त धूप के साथ हवादार कमरों में रहने का प्रयास करें


विशेषज्ञ उन स्थानों पर रहने की सलाह देते हैं जिनमें पर्याप्त मात्रा में ताजी हवा और सूर्य का प्रकाश उपलब्ध हो। यह दावा किया जाता है कि बंद और अंधेरे वातावरण रोगाणु विकास के लिए अनुकूल हैं, इसलिए उचित वेंटिलेशन होना आवश्यक है। इसके अलावा, यह बहुत अच्छा होगा यदि आप कुछ समय के लिए सूरज की रोशनी में बैठें, क्योंकि सूरज की किरणें शरीर में विटामिन डी के स्तर को बढ़ाने में मदद करती हैं, जिससे प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया में सुधार होता है।

अपने तनाव के स्तर को कम रखने का प्रयास करें


चल रही महामारी और परेशानियों के बीच, तनाव और चिंता से बचना मुश्किल है। इस सब के बावजूद, हमको यह याद रखना चाहिए कि, स्वस्थ शरीर के लिए एक शांत मन की आवश्यक्ता है। समय निकाल कर, वर्चुअल माध्यमों से अपने साथियों के साथ बातचीत करते रहें, किसी कला संबंधी गतिविधि में संलग्न हो जाएं, या मेडिटेशन का अभ्यास करें, इन सब से आपको अपने मन को शांत रखने में मदद मिलेगी। इसके अलावा आप कोई भी ऐसी चीज़ कर सकते हैं, जो आपके मन के खुश रखने में मदद करती है। इस समय, हम सभी का जीवन कठिनाइयों से भरा हुआ है, इसलिए यह आवश्यक है कि हम अपने मन की स्थिरता को बनाएं रखें और अपने मानसिक स्वास्थय का ख्याल रखें।

नॉक-नॉक

जब ऐसा लगे कि हर तरफ अंधेरा है, तो अपने अंदर आशा की किरण को प्रज्वलित रखना ज़रूरी है। इस महामारी के बीच यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि आपका शरीर ही आपका अकेला निरंतर साथी है। इसलिए, शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से अपना ख्याल रखना न भूलें। पौष्टिक खाना खाएं, पर्याप्त पानी पिएं, व्यायाम या योग करें और अपनी नींद पूरी करें, आपके निरंतर प्रयास आपको समस्यायों से जूझने की हिम्मत प्रदान करेंगे।

उपरोक्त सभी उपाय एहतियात बरतने के लिए हैं, यह उपचार के लिए जिम्मेदार नहीं हैं। यदि आपको कोई कोविड संबंधित लक्षण हैं, तो उन्हें नज़रअंदाज़ न करें और अपने डॉक्टर जल्द से जल्द संपर्क करें!