1 मई को शुरू हुई उत्तर प्रदेश के 7 जिलों में 18 वर्ष से ऊप्पर लोगों की टीकाकरण ड्राइव और ऐसा बताया जा रहा है की अन्य क्षेत्रों को बाद में शामिल किया जाएगा। लखनऊ,कानपुर,प्रयागराज,मेरठ,गोरखपुर,बरेली और वाराणसी शहरों में 9000 से अधिक सक्रीय कोरोना मामलों का इलाज किया जा रहा है इसीलिए इन शहरों में टीकाकरण के लाभ पहले प्रदान किये गए। माना जाता है कि ड्राइव को सुचारू रूप से चलाने के लिए, यूपी में आज लगभग 10,000 वैक्सीन खुराक उपलब्ध हैं।

अपना कोविड स्लॉट आज ही बुक करें।



लखनऊ में 18 वर्ष से अधिक के लोगों को 10 कोविड टीकाकरण सेंटरों पर कोरोना वैक्सीन लग रही है। हर सेंटर पर 300 वैक्सीन के स्टॉक के साथ, जिले का उद्देश्य आज 3000 लोगों को टीका लगाना है। सीएमओ के अनुसार, केंद्र द्वारा ड्राइव को आरम्भ करने के लिए सभी कार्यात्मक केंद्रों पर सुबह 8 बजे वैक्सीन की शीशियां प्रदान की गई थीं।

लखनऊ में जिन 10 टीकाकरण केंद्रों को ड्राइव के लिए चुना गया है, वे हैं- किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU), डॉ राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान (RMLIMS), संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (SGPGIMS), लोक बंधु राज नारायण अस्पताल, रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल, सिविल अस्पताल, झलकारीबाई अस्पताल, अवंतीबाई अस्पताल, बलरामपुर अस्पताल और बीआरडी अस्पताल।

खुराक केवल उन्हीं को दी जाएगी जिन्होंने Co-WIN पोर्टल पर पहले से रजिस्ट्रेशन किया है। सभी लोग Co-WIN पोर्टल पर अपने स्लॉट बुक कर सकते हैं।

आने वाले सप्ताह में यूपी में 1 करोड़ टीके आने वाले हैं



उत्तर प्रदेश सरकार ने अन्य जिलों में भी टीकाकरण अभियान शुरू करने के लिए 1 करोड़ COVID वैक्सीन खुराक की सप्लाई के लिए आर्डर दिया है। रिपोर्ट के अनुसार, हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड से COVAXIN की 50 लाख और पुणे के SII से कोविशिल्ड की 50 लाख शीशियों की आने वाले सप्ताह में यूपी आने की उम्मीद है।

गुरुवार तक, राज्य ने कोविड जैब की चार से पांच करोड़ खुराक खरीदने के लिए वैश्विक स्तर पर कोशिशें शुरू कर दी हैं। 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण भी जारी रहेगा और आवश्यकता के अनुसार शीशियों की व्यवस्था की जाएगी।