लखनऊ में शहर को और हरा भरा बनाने के लिए नगर निगम ने तैयारी कर ली है। शहर में 706 पार्कों को संवारने के लिए 34.57 करोड़ रूपये खर्च होंगे। लालबाग स्थित स्मार्ट सिटी कार्यालय में 15वें वित्त आयोग की बैठक में इसकी मंजूरी दे दी गई है। इनमें 32 पार्क अर्धविकसित है तो 381 पार्कों में कोई सुविधा नहीं है। इसके बाद अमीनाबाद, यहियागंज, चौक मार्केट, भूतनाथ और आलमबाग बाजार में हरियाली बढ़ाने के लिए 15 करोड़ रुपये की परियोजना को हरी झंडी दी गई है।


मेयर संयुक्ता भाटिया ने बैठक में नगर निगम, एलडीए और जिला प्रशासन ने अधिकारीयों के साथ 5 मॉडल बाजारों को हरा भरा बनाने पर चर्चा की। मेयर ने बताया कि पांचो बाजार में व्यापारियों के साथ बैठक कर मार्केट को सुंदर बनाने पर चर्चा की जाएगी। बाजार के चारों तरफ पौधे लगाए जाएंगे और चौराहों को संवारा जाएगा।

पार्कों में बनाए जाएंगे पिंक यूरिनल


मेयर संयुक्ता भाटिया ने पार्कों में महिलाओं के लिए स्पेशल पिंक यूरिनल बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा की शहर में ऐसे पार्क चिन्हित किए जाएंगे, जहां ज्यादातर महिलाएं टहलने आती है, इन जगहों पर पिंक यूरिनल बनाए जाएंगे। पार्कों में ज्यादा ऑक्सीजन देने वाले पौधे रोप जाएंगे। इकोलॉजिकल सिस्टम विकसित करने के लिए संकरी पौधे और मंगल वाटिका भी विकसित की जाएगी। इसके साथ ही नगर निगम के सर्वे में 381 पार्क ऐसे मिले है, जो अविकसित है।

ग्रीन कॉरिडोर बनाया जाएगा


बैठक में तय हुआ की इन पार्कों में बाउंड्री वॉल और पाथवे भी बनाए जाएंगे। बैठक में मेयर ने रायबरेली रोड स्थित डॉ. हेडगेवार पार्क में ज्यादा ऑक्सीजन देने वाले पौधे रोपने के भी निर्देश दिए। इसके साथ अमर शहीद पथ, विक्रमादित्य मार्ग व रेलवे लाइन के किनारे 50 मीटर, सीतापुर रोड आईआईएम तिराहा, आईआईएम तिराहा से यादव चौराहा, यादव चौराहा से हरदोई रोड, एयरपोर्ट वीआईपी इन्ट्री, कानपुर रोड, नादरगंज इंडस्ट्रियल क्षेत्र, विजयीपुर अंडरपास से पिकप भवन व आईजीपी चौराहा से फैजाबाद रोड आदि इन इलाकों में ग्रीन कॉरिडोर विकसित किया जाएगा और शहर में हरियाली को भी बढ़ाया जाएगा।