लखनऊ में गोमती नदी को साफ और स्वच्छ बनाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा व्यापक उपाय किये जा रहे हैं। गोमती नदी में गंदगी और बाहर से आने वाली जलकुंभी को फैलने से रोकने के लिए घैला पुल पर नगर निगम ने 55 फीट लंबा जाल लगाया है। इस जाल के लग जाने से अब गोमती नदी में बाहर से आने वाली जलकुंभी पर रोक लगेगी और गोमती नदी स्वच्छ और साफ दिखाई देगी।


आपको बता दें कि पिछले महीने की 28 मई को नगर विकास मंत्री गोपाल टंडन ने गोमती नदी का निरीक्षण किया था और पाया था की गोमती नदी बेहद प्रदूषित होती जा रही है। सबसे बड़ी समस्या जलकुंभी की थी जिसके कारण नदी साफ़ नजर तक नहीं आती थी। इसके साथ ही नगर विकास मंत्री ने जारी सफाई कार्य का भी निरीक्षण किया था, तब यह पाया गया कि नगर निगम सीमा के बाहर से भी नदी में जलकुंभी आ रही है, जिसके कारण बार बार जलकुंभी की समस्या पैदा हो जाती है। इन्ही सब समस्याओं को देखते हुए नगर विकास मंत्री ने गोमती नदी को साफ करने और जलकुंभी को रोकने के लिए जाल लगाने के निर्देश दिए थे।


इसके बाद नगर आयुक्त अजय द्विवेदी के आदेश पर मुख्य अभियंता रामनगीना त्रिपाठी ने नदी क्षेत्र का दौरा किया और घैला पुल पर 55 फीट लंबा व करीब 5 फीट ऊंचा डबल जाल लगवाया है। जाल के पास जमा होने वाली जलकुंभी हटाने के लिए 4 नांव और 11 कर्मचारी भी लगाए हैं।

सभी लेटेस्ट अपडेट्स के लिए नॉकसेंस हिंदी को गुगल न्यूज़ पर फॉलो करें।