आवासीय परिसरों में अगर लखनऊ विकास प्राधिकरण से नक्शा पास है तो बिजली कनेक्शन के लिए बिजली विभाग मना नहीं कर सकेगा। यह व्यवस्था मल्टी स्टोरी यानी जी प्लस टू वाले भवनों पर तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है। लविप्रा उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने मध्यांचल एमडी सूर्य पाल गंगवार को पत्र भेजकर उल्लेख किया है कि मल्टी स्टोरी यानी जी प्लस टू का अगर लविप्रा से नक्शा पास है तो उसे ही एनओसी माना जाए और बिजली बिजली कनेक्शन दिया जाएगा।

यह व्यवस्था सिर्फ आवासीय परिसर में जी प्लस टू के लिए है

बिजली विभाग ने राजधानी के सभी 26 खंडों में मल्टी स्टोरी में बिजली कनेक्शन देने पर रोक लगा दी थी। क्योंकि लविप्रा द्वारा बिना एनओसी के कनेक्शन देने पर आग्रह किया गया था। अब यह व्यवस्था खत्म कर दी गई है। इससे लविप्रा द्वारा नियोजित कालोनियों में रह रहे लोगों को बहुत बड़ी राहत मिली है।

मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक ने बताया कि सभी खंडों के अधिशासी अभियंता को कनेक्शन देने के लिए निर्देशित कर दिया गया है। पत्र में उल्लेख किया गया है कि अगर लविप्रा से नक्शा पास है तो कनेक्शन दे दिया जाए। यह व्यवस्था सिर्फ आवासीय परिसर में जी प्लस टू के लिए है। अगर आवासीय परिसर में वाणिज्यिक गतिविधियों के लिए भवन बनाया है और नक्शा आवासीय का पास है तो कनेक्शन आवासीय ही मिलेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *