लखनऊ के शिया पीजी कॉलेज ने कोरोना महामारी के कारण दिवगंत होने वाले बच्चों की पूरी फीस माफ करने का एलान किया है। सत्र 2021-22 में उन सभी छात्र-छात्राओं की फीस माफ करने का फैसला लिया है, जिनके माता -पिता की कोरोना महामारी से मृत्यु हो गई है। कॉलेज प्रशासन ने ऐसे सभी परिवार के विद्यार्थियों को उनके यहां दाखिला लेने के लिए आमंत्रित भी किया है।इस फीस माफी के लिए कॉलेज स्तर पर पांच सदस्यीय कमेटी बनाई गई है, जो सभी जरूरी औपचारिकताओं को पूरा करवाएगा।


लखनऊ विश्वविद्यालय से सहयुक्त शिया कॉलेज को संचालित करने वाली सर्वोच्च संस्था मजलिस-ए-उलेमा के सचिव मौलाना यासूब अब्बास ने बताया कि कोरोना महामारी से समाज का एक बड़ा तबका बहुत ही बुरी तरह से प्रभावित हुआ है जिससे उनकी आर्थिक स्थिति ख़राब हुई है और रोजमर्रा की जिंदगी में संघर्ष करने को मजबूर है, कई लोगों ने अपनों को खोया है। ऐसे में इन सभी मृतकों के बच्चों को उचितशिक्षा मिल सके ताकि इनका भविष्य सुरक्षित हो जय बहुत जरूरी है। शिया कॉलेज के कार्यवाहक प्राचार्य डॉ.मोहम्मद मियां आब्दी ने कहा कि यहां संचालित पाठ्यक्रम बीए, बीएससी, बीकॉम, एमए, एमकॉम, बीबीए (आईबी), एलएलबी और पत्रकारिता एवं जनसंचार जैसे पाठ्यक्रमों में प्रवेश ले सकते हैं।