जरूरी बातें

राजाजीपुरम स्थित आलमबाग-चौक में बनाया जा रहा क्लोवर लीफ (वन-वे) बनाया जा रहा है।
राजाजीपुरम स्थित आलमबाग-चौक रेलवे-ओवरब्रिज निर्माण पूरा हो जाने के बाद तीन लाख राहगीरों को मिलेगी जाम से राहत।
रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल तथा आलमनगर सहित आसपास से गुजरने वालों को आवागमन में होगी आसानी।
16 करोड़ लागत से बन रहे क्लोवर लीफ के निर्माण को मार्च 2022 तक पूरा करने का है लक्ष्य।
तालकटोरा चौक की तरफ जाने वाले नागरिकों को हनुमान मंदिर के पास लगने वाले जाम का नहीं करना पड़ेगा सामना।
कोरोना की दूसरी लहर के कारण नहीं शुरू हो पाया था निर्माण।

लखनऊ के राजाजीपुरम स्थित आलमबाग-चौक रेलवे-ओवरब्रिज बन जाने पर तीन लाख वाहनों को अब जाम से राहत मिलेगी। लोगों को ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए क्लोवर लीफ (वन-वे) बनाया जा रहा है। इससे रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल तथा आलमनगर सहित आसपास से गुजरने वालों को आवागमन में आसानी होगी।

सेतु निगम के अधिकारीयों के मुताबिक 16 करोड़ की लागत से बन रहे क्लोवर लीफ के निर्माण को मार्च 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य है। मुख्य परियोजना प्रबंधक पीके पांडेय ने बताया कि आलमबाग-चौक मार्ग के रेल सम्पार 218 ए पर बने आरओबी के राजाजीपुरम की तरफ के रेलवे क्रासिंग पार कर बाईं तरफ रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल है, लेकिन जाम लगने से मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

हनुमान मंदिर के पास लगने वाले जाम से मिलेगी राहत

इस क्लोवर लीफ के बन जाने के बाद तालकटोरा चौक की तरफ जाने वाले नागरिकों को हनुमान मंदिर के पास लगने वाले जाम का सामना नहीं करना पड़ेगा। शासन ने मार्च 2021 में ई-फाइनेंस कमेटी से क्लोवर लीफ के लिए 16 करोड़ की मंजूरी दी थी, लेकिन कोरोना की दूसरी लहर आने से निर्माण शुरू नहीं हो सका था। सेतु निगम के मुताबिक क्लोवर लीफ निर्माण के दौरान, लेसा, वन विभाग, जलकल विभाग, नगर निगम और बीएसएनएल की ओर से केबल लाइन शिफ्ट की जाएंगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *