लखनऊ की सड़कों, सार्वजनिक स्थलों, भीड़ भाड़ वाले इलाके और बाजारों में जनता की सहूलियत के लिए नो पार्किंग जोन/ नो व्हीकल जोन से संबंधी बोर्ड लागए जाएंगे जिससे लोगों को पता चल सकेगा कि उस जगह पर वाहन खड़ा करना मना है और वो अनावश्यक चालान संबंधी कार्रवाई से बच जाएंगे। नगर निगम की ओर से सभी 8 जोन में ऐसे पॉइंट्स तलाशने का काम भी शुरू हो गया है, जहां कार सवार अधिक आते हैं, इसके साथ ही मॉल्स, शॉपिंग काम्प्लेक्स और शहर के प्रमुख मार्गों को चिन्हित किया जा रहा है, जहां पर नो व्हीकल जोन या नो पार्किंग के बोर्ड लगाए जाएंगे।

करीब 100 पॉइंट्स पर नो व्हीकल/पार्किंग ज़ोन के बोर्ड लगाए जाएंगे 

नगर निगम प्रशासन नो पार्किंग जोन/ नो व्हीकल जोन के बोर्डों पर लाल रंग से चालान राशि भी मेंशन की जायेगी। जिससे वाहन चालकों से अतिरिक्त राशि की वसूली न हो सकें। नगर निगम प्रशासन का लक्ष्य है की पहले चरण में शहर के करीब 100 पॉइंट्स पर नो व्हीकल ज़ोन या नो पार्किंग के बोर्ड लगाए जाने का है। हालांकि सर्वे पूरा होने के बाद संख्या में बढ़ोतरी भी की जा सकती है। हालांकि पूरा फोकस उन्ही पॉइंट्स पर किया जाएगा, जहां प्रतिदिन वाहनों की संख्या अधिक मात्रा में रहती है।

नगर निगम प्रशासन की ओर से हॉस्पिटल्स के आसपास भी नो व्हीकल ज़ोन या नो पार्किंग संबंधी बोर्ड लगवाए जाने की तैयारी की जा रही है। इसके साथ ही शहर में जहां पहले से नो पार्किंग जोन/ नो व्हीकल जोन के बोर्ड लगे हुए अगर वो टूटे या ख़राब स्तिथि में हैं तो उन्हें बदला जाएगा नया बोर्ड लगाया जाएगा। नो पार्किंग जोन/ नो व्हीकल जोन बोर्ड के लग जाने के बाद भी अगर कोई वाहन चालक उस जगह या इलाके में अपना वाहन ले जाता है या पार्किंग करता पाया जाता है तो उसका तत्काल 1500 रुपये का चालान काटा जाएगा।

लोगों के बीच वाहन पार्क करने की जागरूकता बढ़ेगी

आपको बता दें की यह व्यवस्था इसलिए की जा रही है ताकि शहरवासियों को पता चल सके कौन सी जगह या इलाका नो पार्किंग जोन/ नो व्हीकल जोन में आता है। कई बार लोगों को पता ही नहीं होता की जहां उन्होंने अपना वाहन पार्क किया है वह जगह नो पार्किंग जोन/ नो व्हीकल जोन में आती है, ऐसे में जानकारी न होने पर लोग अपना वाहन सड़क पर या गलत जगह पार्क करके चले जाते है जिससे सड़कों पर जाम की समस्या पैदा हो जाती है।

इस कारण इस ट्रैफिक पुलिस उनके वाहन को टो करके चालान की कार्रवाई कर देती है जिससे लोगों को अनावश्यक दिक्कतों को सामना करना पड़ता है। इस नई व्यवस्था से लोगों में जागरूकता बढ़ेगी और सड़कों पर अनावश्यक वाहन भी नहीं दिखेंगे। इसके बाद ही अगर कोई इस नियम का पालन नहीं करता है तो उसपर नियमानुसार कार्रवाई होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *