कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रॉन के खतरे के बीच लखनऊ में कोविड-19 के नए मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। राजधानी लखनऊ में करीब दो महीने के बाद बीते शुक्रवार 10 दिसंबर को एक साथ 8 नए कोरोना के मरीजों की पुष्टि हुई है। जिनमें लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर की जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। वहीं 2 मरीज सोनभद्र जिले के हैं और ये दोनों ही मरीज लखनऊ पीजीआई की ओपीडी में इलाज करवाने आए थे। सतह ही लखनऊ के 5 अन्य लोग भी कोरोना के शिकार हुए हैं जो एक ही परिवार से है।

एसिम्टोमैटिक है सभी मरीज

आशियाना स्थित एलडीए कॉलोनी निवासी एक महिला में दो दिन पहले कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी और महिला का इलाज किंग जॉर्ज मेडिकल यूनीवर्सिटी (केजीएमयू) में चल रहा है। मरीज के संपर्क में आए सभी लोगों की जांच हुई जिसकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट बीते शुक्रवार को आई। अधिकारीयों ने बताया कि 5 लोगों में संक्रमण क पता चला है और यह सभी लोग महिला मरीज के संपर्क में आए थे। सभी मरीज इस समय होम आइसलोशन में हैं। अधिकारीयों के मुताबिक मरीजों में कोरोना के गंभीर लक्षण नहीं हैं।

शहर में बनाए जाएंगे मिनी कंटेनमेंट जोन

लखनऊ में जहां से भी कोरोना के पॉजिटिव केस आ रहे हैं, उन इलाकों में मिनी कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे। साथ ही प्रभावित इलाकों में सघन सैनीटाईजेशन कराया जाएगा। स्मार्ट सिटी स्थित कमांड सेंटर में बुलाई गई बैठक में डीएम अभिषेक प्रकाश ने शहर में कोरोना प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करवाने का आदेश दिया है और कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए की भीड़भाड़ वाले इलाकों समेत घर से बाहर निकलने पर लोग मास्क पहनें। अगर कोई बिना मास्क के बाहर दीखता है तो उसे चेतवानी दें और जरूरत पड़ने पर चालान करें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *