लखनऊ के कम से कम 20 वैज्ञानिकों ने एक वैश्विक डेटाबेस में जगह पाई है जिसे स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर John P. Loannidis और उनकी टीम द्वारा तैयार किया गया है। इसे एल्सेवियर (Elsevier) द्वारा प्रकाशित किया गया है। रसायन विज्ञान, नैनोसाइंस, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सामग्री विज्ञान, जैव सूचना विज्ञान, स्वचालन, ऊर्जा, भूविज्ञान और पर्यावरण इंजीनियरिंग जैसे विषयों में काम करने वाले वैज्ञानिक सूची में शामिल हैं। सूची में सम्मिलित होने वाले कुल 1,86,177 वैज्ञानिकों में से 2,042 भारत से हैं।

सीडीआरआई, एनबीआरआई, केजीएमयू और एलयू के वैज्ञानिकों ने बनाई अपनी जगह

उनके साथ राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान के दो सेवारत वैज्ञानिक बी.एन. सिंह और देबाशीष चक्रवर्ती ने भी शामिल हैं। इसके अलावा, लखनऊ विश्वविद्यालय के तीन प्रोफेसरों सह वैज्ञानिकों ने भी डेटाबेस में जगह बनाई है। इनमें प्रसिद्ध प्राणी विज्ञानी प्रोफेसर ओमकार, भौतिकी विभाग के प्रोफेसर सीआर गौतम और रसायन विज्ञान विभाग के अभिनव कुमार शामिल हैं।

अंत में, सूची में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के छह डॉक्टर भी शामिल हैं। ये हैं न्यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख प्रोफेसर आर.के. गर्ग, बाल रोग विभाग के प्रमुख प्रोफेसर शैली अवस्थी, मनोचिकित्सा विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर सुजीत कुमार कर, माइक्रोबायोलॉजी विभाग के प्रमुख प्रोफेसर अमिता जैन, श्वसन चिकित्सा विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर संतोष कुमार और माइक्रोबायोलॉजी विभाग के पूर्व प्रमुख प्रो यू.सी. चतुर्वेदी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *