मुख्य बिंदु

80 करोड़ रुपये की लगता से कमल की थीम पर बनकर तैयार होगा कन्वेंशन सेंटर।
इस कन्वेंशन सेंटर का निर्माण 1,60,000 वर्ग फुट भूमि पर हो रहा है।
इस कन्वेंशन सेंटर के बन जाने से यह कला, संस्कृति, व्यापार और उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। इसके साथ ही यह सेंट्रल एक्टिविटी हब बनेगा।
सेंटर में वैवाहिक समारोह भी कराए जा सकेंगे। भवन फुली एसी होगा और इसमें 8 बड़ी लिफ्ट के साथ ही दोमंजिला भवन पर आवागमन हेतु 4 एस्केलेटर लगेंगे।
मॉडर्न कन्वेंशन सेंटर की बहुमंजिली इमारत में इंटरनेशन लेवल का एग्जीबिशन सेंटर होगा। यहां पर 500 सीट का अत्याधुनिक ऑडिटोरियम बनेगा।
इसके अलावा 16,000 वर्ग फुट जगह पर पहला एग्जीबिशन हॉल, 12 हजार वर्ग फुट जगह पर का दूसरा एग्जीबिशन हॉल होगा।

कानपुर के चुन्नीगंज में स्मार्ट सिटी के तहत करीब 80 करोड़ रुपए से बनने वाले ‘मॉडर्न कन्वेंशन सेंटर’ का निर्माण कार्य प्रगति पर है। अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित इस सेंटर को कला संस्कृति और कारोबार के लिए सेंट्रल एक्टिविटी हब माना जा रहा है। इस कन्वेंशन सेंटर में प्रदर्शनी हॉल, सभागार व्यापार केंद्र, रेस्टोरेंट जैसी सुविधाएं मिलेंगी। कानपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की तरफ से चुन्नीगंज में कन्वेंशन सेंटर का निर्माण एमएचपीएल इंडिया (MHPL INDIA PRIVATE LIMITED) करा रही है।

कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने निर्माण कार्य का निरिक्षण किया

परियोजना की लागत 80 करोड़ है इसमें 67.41 करोड़ से बहुमंज़िला भवन का निर्माण होगा। इस भवन का आकार कमल के फूल जैसा होगा। कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने निर्माण कार्य का निरिक्षण किया और उन्होंने निर्देश दिया कि अगले 15 महीने में इसका का निर्माण कार्य पूरा कर लिए जाए। इस कन्वेंशन सेंटर को 1,60,000 वर्ग फुट एरिया में बनाया जा रहा है। बीते 7 जनवरी को कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने ही इसका भूमि पूजन किया था। कमिश्नर डॉ. राजशेखर ने एचबीटीयू कानपुर से आर्किटेक्चर और स्ट्रक्चर ड्राइंग की जांच कराने को कहा है। इसके साथ ही आईआईटी के प्रोफेसर की अध्यक्षता वाली समिति से हर महीने गुणवत्ता, प्रगति की निगरानी कराने, संचालन और रखरखाव के लिए आईआईएम इंदौर की मदद लेने के लिए कहा है।

अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित होगा यह मॉडर्न कन्वेंशन सेंटर

इस ‘मॉडर्न कन्वेंशन सेंटर’ को ग्रीन बिल्डिंग के रूप में डिज़ाइन किया गया है और नेशनल बिल्डिंग कोड के मानक के अनुरूप डिज़ाइन और ड्राइंग तैयार किया गया है। इसमें सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट को शामिल किया गया है और जो ट्रीटेड पानी की सफाई और पौधों को पानी देने के काम के लिए किया जाएगा। कन्वेंशन सेंटर की छत पर सोलर पैनल लगाए जायेंगे जो पूरे भवन को ऊर्जा दक्षता (Energy Efficiency) बनाएगा जिससे बेसिक लाइटिंग की जाएगी। सेंटर पूरी तरह से वातनुकूलित होगा जिसमें आने जाने के लिए आठ लिफ्ट और चार एस्क्लेटर होंगे। इसके साथ ही इस बात पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है कि बिल्डिंग दिव्यांगों के लिए सुविधाजनक हो और इसके लिए रैंप, लिफ्ट, टॉयलेट, सीटिंग एरिया आदि का निर्माण करवाया जाएगा। सेंटर में वैवाहिक समारोह भी कराए जा सकेंगे।

भवन में 500 लोगो के बैठने की क्षमता वाला अत्याधुनिक सभागार होगा और 16000 वर्ग फुट का प्रदर्शनी हॉल भी बनेगा साथ ही एक और 12000 वर्ग फुट का एक और प्रदर्शनी हॉल होगा। इसमें एक सम्मलेन कक्ष होगा जहां 300 लोगों के बैठने की क्षमता होगी और 100 लोगो की क्षमता वाले तीन मीटिंग रूम होंगे। इसके साथ ही यहां मेहमानो के रुकने के लिए यहां 8 गेस्ट रूम होंगे और एक 8000 वर्ग फुट में एक फूड कोर्ट भी होगा। भवन में वाहनों की पार्किंग का भी पूरा ध्यान रखा गया है इसके लिए यहां 68 वाहनों की कवर्ड पार्किन भी होगी जो कन्वेंशन सेंटर में आने वाले वाहनों को एक सुरक्षित पार्किंग स्पेस देगी। इसके निर्माण हो जाने पर कला, संस्कृति से लेकर उद्योग और व्यापार से संबंधित गतिविधियां एक स्थान पर हो सकेंगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *