लखनऊ का संगीत नाटक अकादमी वर्षों से संगीत, नृत्य, लोक संगीत, लोक नाट्य की परम्पराओं के प्रचार–प्रसार, संवद्धर्न एवं परिरक्षण का महत्वपूर्ण कार्य कर रही हैं। यहां अक्सर कई बड़े बड़े सांस्कृतिक कार्यक्रम समय समय पर होते रहते हैं, जिनमें शहर के कलाकारों समेत देश विदेश के कलाकार भी भाग लेते है अपनी प्रतिभा दिखाते हैं। संगीत नाटक अकादमी राजधानी लखनऊ की सबसे प्रतिष्ठित संस्था है जहां कला को निखारा जाता है और कलाकारों को एक मंच दिया जाता है। इसी के चलते संगीत नाटक अकादमी को सरकार ने अब और भी आधुनिक करने का फैसला लिया है। अकादमी को पूरी तरह से हाईटेक किया जा रहा और यह पूरी तरह डिजिटल हो जाएगी। एसएनए के रिकॉर्डिंग स्टूडियो में विश्व-स्तरीय सुविधाएं मिलेंगी, यहां विदेशी तकनीक के उपकरण लगाए जाएंगे।

डिजिटल होगी लाइब्रेरी, आधुनिक उपकरण लगाए जाएंगे


इसके साथ ही अकादमी की लाइब्रेरी का स्वरुप भी बदला जाएगा, लाइब्रेरी में करीब 16,000 किताबें हैं जहां पत्रिका समेत अन्य कला संगीत से जुड़ी किताबें मिलती है। लाइब्रेरी में फलोरिंग के साथ डिस्प्ले का काम होगा। लकड़ी की अलमारी और मेज कुर्सी की उचित व्यवस्था होगी। इसके साथ ही कंप्यूटर सिस्टम लगाया जाएगा। जिस पर किताबों का विवरण अपलोड करने की भी योजना है। लाइब्रेरी में फ्लोरिंग तोड़ने के साथ दीवारों पर लगा पुराना पेंट हटाया जा रहा है। अकादमी में आधुनिक उपकरण लगाए जाएंगे और यह करीब 2 महीने के अंदर में तैयार हो जाएगा। संगीत नाटक अकादमी के स्टूडियो की स्थापना सन 1980 में की गई थी। इसमें सुविख्यात एंव सुप्रिसद्ध वयोवृद्ध कलाकारों की सोदाहरण वार्ता एवं ऑडियो रिकॉर्डिंग संग्रहित है। 1993 से वीएचएस पर वीडियो रिकॉडिंग शुरू हुई। इसमें लुप्त प्राय: विधाओं जैसे शास्त्रीय, उपशास्त्रीय, लोक गीत, संगीत एवं वादन विधाओं के कलाकारों की रिकॉर्डिंग की जाती है। यह शोधार्थियों के लिए उपयोगी है। अब ये स्टूडियो पूरी तरह डिजिटल हो जायेगा।

संगीत नाटक अकादमी में वीवीआईपी लोगों के लिए बनेगा सेफ हाउस


उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी में राज्यपाल और सीएम के लिए सेफ हाउस बनेगा। यह सेफ हाउस उच्चस्तरीय सुविधाओं से लैस सभागार के बराबर में सेफ हाउस बनेगा। जिससे होकर सीएम और राज्यपाल समेत अन्य वीवीआईपी सभागार में जाएंगे। सुरक्षा के लिहाज से ये सेफ हाउस बनाया जा रहा है। इसके लिए शासन ने स्वीकृति दे दी है। इस वर्ष सेफ हाउस का काम शुरू हो जाएगा। अकादमी के सचिव तरुण राज ने बताया कि ये स्पेशल सुइट के तौर पर तैयार किया जाएगा। सीएम, राजयपाल समेत अन्य अति विशिष्ठ अतिथियों की सुरक्षा के लिहाज से इसे बनवाया जा रहा है। बहुत जल्द ही इसका निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। पीडब्लूडी इस सेफ हाउस का निर्माण करेगा। पीडब्लूडी के इंजीनियर ने संगीत नाटक अकादमी का निरीक्षण करके निर्माण की रुपरेखा तैयार की है। शासन की ओर से इसकी अनुमति मिल चुकी है और बजट भी पास हो गया है।