कानपुर मेट्रो परियोजना ने एक बार फिर गति पकड़ ली है और नवीनतम विकास के अनुसार, आईआईटी कानपुर और कल्याणपुर मेट्रो स्टेशनों के बीच एक किलोमीटर लंबा मेट्रो ट्रैक बिछाया गया है। 42 दिनों की छोटी अवधि में इस उपलब्धि के साथ, उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल निगम के अधिकारियों को उम्मीद है कि योजनाओं को तय समय सीमा पर पूरा कर लिया जाएगा और सुविधा जल्द ही चालू हो जाएगी।

18 मीटर लंबे सेग्मेंट को जोड़ कर विकसित किया जा रहा ट्रैक सिस्टम


रिपोर्ट के मुताबिक, 18 मीटर लंबे सेग्मेंट्स (segments) को जोड़कर ट्रैक तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा, यह बताया गया है कि कानपुर मेट्रो मार्गों की स्थापना के लिए वेल्डेड रेल (welded rails) को तैनात किया जा रहा है। ये स्लैब बदलते मौसम से प्रभावित नहीं होता और सर्दियों में सिकुड़ते नहीं हैं। ट्रैक सिस्टम में ट्रैक प्लिंथ, रेल शीट, रबर पैड, फास्टनर (क्लैंप) आदि कई और चीज़ें भी शामिल होंगी। अधिकारियों के अनुसार मेट्रो की मेनलाइन पर ट्रैक बैलास्ट-लेस यानी गिट्टी रहित होगा। जहां इस ट्रैक का रखरखाव आसान होता है, वहीं इसका स्थायित्व और गुणवत्ता बेहतर होती है।

मई में आईआईटी कानपुर के पास बिछाया गया पहला क्रॉसओवर

उल्लेखनीय है कि आईआईटी कानपुर और मोतीझील को जोड़ने वाली नौ किलोमीटर की पहली मेट्रो लाइन का एक किलोमीटर हिस्सा बनकर तैयार हो गया है। कथित तौर पर, पहला क्रॉसओवर (crossover) मई के दूसरे सप्ताह में आईआईटी कानपुर मेट्रो स्टेशन के पास स्थापित किया गया था। जिसके बाद, परियोजना को गति मिलेगी और यात्रियों के लिए मेट्रो सुविधा जल्द ही शुरू हो जाएगी।