कानपुर के झाड़ी बाबा पुल के निर्माण में आ रही रुकावटों को देखते हुए, संभागायुक्त डॉ. राज शेखर ने अधिकारियों से प्रक्रिया में तेजी लाने को कहा है। कथित तौर पर, उन्होंने संबंधित अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि छावनी क्षेत्र में स्थित यह पुल नवंबर तक चालू हो जाए। इसके अतिरिक्त, यह भी बताया गया है कि शुक्लागंज की ओर जाने वाली सड़क को चौड़ा करने की योजना शुरू की गई है।

पुल के पूरे हो चुके खंड में बनाई जाएगी सर्विस लेन


रिपोर्ट के अनुसार, आयुक्त ने बुधवार को छावनी बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के साथ पुल का निरीक्षण किया। उनके साथ उन्नाव जिले के एसडीएम, ब्रिज कॉर्पोरेशन के प्रोजेक्ट मैनेजर समेत अन्य अधिकारी भी वहां मौजूद थे। कथित तौर पर, शीर्ष प्राधिकरण ने पुल के पूर्ण खंड में जल्द से जल्द एक सर्विस लेन स्थापित करने के आदेश जारी किए।

कानपुर से शुक्लागंज को जोड़ने वाले पुराने गंगा पुल के बंद होने के बाद छावनी की तरफ ट्राफिक काफी बढ़ गया है। इसके अलावा, पुल के निर्माण में देरी के कारण सर्विस लेन खराब स्थिति में है, और मानसून ने यात्रियों के लिए समस्याओं को बढ़ा दिया है। इसे देखते हुए सर्विस लेन को जल्द से जल्द ठीक करना जरूरी है ताकि क्षेत्र में यातायात की स्थिति में सुधार किया जा सके।

पुल से इन स्थानों पर जाने वाले यात्रियों को मिलेगी सुविधा-


यह उम्मीद की जा रही थी कि पुल का संचालन सितंबर तक शुरू कर दिया जाएगा, लेकिन महामारी के कारण योजनाओं में देरी आई है। इस पुल के चालू होने के बाद, यात्रियों को उन्नाव में नए गंगा पुल से शहर को जाने वाले गोलघाट से पुल पर चढ़कर एसएन सेन बालिका डिग्री कालेज के पास उतरकर फूलबाग, घंटाघर, दालमंडी, मालरोड, नौघड़ा, परेड, बड़ा चौराहा सहित अन्य जगहों पर जाने में सुविधा होगी।

हाल ही में यह पता चला था कि शुक्लागंज और नए पुल को जोड़ने वाली सड़क 4 मीटर चौड़ी भी नहीं है, और इससे नियमित यात्रियों को काफी परेशानी होती है। अब, अधिकारी नई परियोजनाओं के लिए भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित करने के उपायों के साथ-साथ मामले को देख रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, रक्षा मंत्रालय द्वारा प्रदान की गई भूमि के अलावा अन्य क्षेत्रों के लिए भी प्रस्तावों का अनुरोध किया गया है।