देश भर में भयावह कोरोना महामारी की विषम परिस्थितियों से हम सब ही भली भांति अवगत हैं। इस मुश्किल समय में इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन की कानपुर विंग से कुछ परोपकारी व्यक्तियों का समूह कोरोना संकट से ग्रसित लोगों की सहायता करने के लिए आगे आया हैं। आईआईए के तहत कारखानों में काम करने वाले लोगों की एक बड़ी संख्या को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से शुरू की गई यह पहल मामूली कीमत पर चिकित्सा आवश्‍यकताओं की सप्लाई के वादे के अलावा निशुल्क मेडिकल परामर्श सुविधाएं प्रदान कर रही है। इस कार्यक्रम के एक भाग के रूप में, ज़रूरतमंद लोगों को जो कोरोना संक्रमित हैं, थर्मामीटर, ऑक्सीमीटर और अन्य आवश्यक चीजों से युक्त पैकेट दिए जा रहे हैं।

कोविड किट प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड की कॉपी ज़रूरी है


निःशुल्क मेडिकल परामर्श पाने के लिए, व्यक्ति को संस्थान के ऑफिस जाना होगा और अधिकारियों को अपनी परेशानियों के विषय में बताना होगा। उसके बाद उन्हें मेडिकल विशेषज्ञ द्वारा टेलीफोन पर परामर्श दिया जाएगा। इसके अलावा कोविड आइसोलेशन किट सेंटर से सिर्फ 10 रुपये में प्राप्त की जा सकती हैं।

फ़ोन कॉल पर Knocksense से बात करते हुए आईआईए कानपुर के डिवीजन चेयरमैन आलोक अग्रवाल जी ने बताया, की कारखाने के सभी कर्मचारियों से बता दिया गया है की उन्हें निःशुल्क टेलीफोनिक कंसल्टेशन प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा उन्हें मेडिकल किट प्रदान की जाएंगी जिससे उनका सामान्य कोरोना उपचार सुनिश्चित हो सके। इस सुविधा का दुरुपयोग न हो इसलिए 10 रुपये का टोकन शुल्क लिया जा रहा है। "उन्होंने बताया कि किट में एन -95 मास्क, एक सैनिटाइज़र बोतल और एक डिजिटल थर्मामीटर के साथ कोरोना उपचार की दवाइयां उपलब्ध हैं। इसके अलावा एक आक्सीमीटर भी प्रदान किया जाएगा यदि व्यक्ति उपयोग करने के बाद उसे वापस करने का वादा करता है।

ऐसी ही योजनाएं पहले भी लागू की गई थीं

ये पहली बार नहीं है जब संस्थान अपने कर्मचारियों और नागरिकों के हित के लिए आगे आया है। पहले भी सेंटर पर हर मंगलवार को गरीब मरीज़ों के लिए निःशुल्क मेडिकल परामर्श अभियान चलाया जाता था। महामारी के कारण, इस सुविधा को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया है और स्थिति में सुधार होते ही इसे फिर से शुरू किया जाएगा।