महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई में ऑक्सीजन का संकट भयावह तरीके से सामने आया है। उपलब्ध संसाधनों को बढ़ाने के प्रयास में, आईआईटी कानपुर के एक पूर्व छात्र ने एक हल्का और पोर्टेबल ऑक्सीजन कैन विकसित किया है जिसका नाम 'ऑक्सीराइज' है। इस ऑक्सीजन कैन को आसानी से एक सैनिटाइज़र की तरह ले जाया जा सकता है। ई-स्पिन नैनोटेक प्राइवेट लिमिटेड के डॉ संदीप पाटिल द्वारा विकसित किया गए इस छोटे डिब्बे में 10 लीटर ऑक्सीजन इकठ्ठा होने की क्षमता है।

आपातकालीन स्थितियों के दौरान तेज़ और अस्थायी राहत प्रदान करेंगे ये कैन



रिपोर्ट् के मुताबिक, मरीज की हालत बिगड़ने पर मरीज को तुरंत ऑक्सीजन शॉट दिया जा सकता है। तेज़ और अस्थायी राहत प्रदान करते हुए, ये कैन कुछ समय ऑक्सीजन प्रदान करने में मदद कर सकते हैं ताकि व्यक्ति को अस्पताल ले जाया जा सके। 499 रुपये की कीमत वाले ये कैन ऑनलाइन उपलब्ध हैं। यह पोर्टेबल डिवाइस आपात स्थितियों के बीच एक वरदान के रूप में काम कर सकते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी वर्तमान में दैनिक आधार पर 1,000 बोतलों के उत्पादन की पहल कर रही है। रिपोर्ट में कहा गया है कि इन उपकरणों में रोगियों को ऑक्सीजन देने के लिए एक विशिष्ट उपकरण होता है। कथित तौर पर, कैन का वजन 300 ग्राम होता है और प्रत्येक कैन कुल 100 शॉट्स देने में सक्षम होता है। रिपोर्ट के मुताबिक, डॉ. पाटिल पांच लेयर वाले मास्क के निर्माण में भी शामिल रहे हैं।

अपना ऑर्डर यहां दें-

सभी इच्छुक व्यक्ति swasa.in पर अपना ऑर्डर दे सकते हैं। वर्तमान स्थिति को देखते हुए, इस उत्पाद की मांग में काफी वृद्धि हुई है और निर्माताओं ने सूचित किया है कि डिलीवरी में अपेक्षा से अधिक समय लग सकता है। जैसा कि राष्ट्र इस घातक महामारी के खिलाफ लड़ रहा है, ऐसे नवीन विकास समय की आवश्यकता बन गए हैं!