मुख्य बातें:

  • कानपुर के जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में कोविड कंट्रोल रूम को दुबारा शुरू किया जाएगा।
  • यह कंट्रोल रूम मरीजों को जानकारी देने के अलावा उनकी काउंसलिंग भी करेगा।
  • कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए डीएम ने मेडिकल कालेज को प्राचार्य से मांगा प्रस्ताव।
  • प्रस्ताव में ऑक्सीजन प्लांट, दवाइयों और आइसोलेशन वॉर्ड के निर्माण की जानकारी दी गई है।

कानपुर में कोरोना केसेस की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में कोविड कंट्रोल रूम को दुबारा शुरू किया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार, डीएम ने दूसरी लहर के दौरान बनाए गए  कोविड कंट्रोल रूम को फिर से शुरू करने के आदेश दिए हैं। यह कंट्रोल रूम मरीजों को जानकारी देने के अलावा उनकी काउंसलिंग भी करेगा।

मेडीकल कॉलेज ने तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू की

मेडिकल कालेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने बताया कि, शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए डीएम ने जीएसवीएम मेडिकल कालेज से प्रस्ताव मांगा था। इस प्रस्ताव में कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम में जरूरी उपकरणों, दवाइयों और अन्य चीजों की जानकारी मांगी गई थी। मंगलवार को यह प्रस्ताव भेज दिया गया है।

डॉ. संजय काला ने आगे बताया कि, हैलट में इस समय तीन ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगे है। अस्पताल में एक और प्लांट लग्न है, जिसे हम लोग जल्द से जल्द लगवाना चाहते है।

रिपोर्ट के अनुसार, प्रस्ताव में  हैलट अस्पताल में दवाइयों की कमी के बारे में भी बताया गया है और कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल के लिए 80 लाख की दवाइयां की मांग की गई है, जो सिर्फ कोरोना मरीजों पर ही इस्तेमाल की जाएगी। इसके अलावा जो नए आइसोलेशन वार्ड बनाये जाने है उसके बारे में भी जानकारी दी गयी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *