पहली बार, भारतीय वायु सेना के कार्गो वाहक सी -17 ग्लोबमास्टर (IAF cargo carrier C-17 Globemaster) गुरुवार को कानपुर के चकेरी वायु सेना स्टेशन पर फ्रांस से एक विशेष ऑक्सीजन प्लांट और उसके उपकरण डिलीवर करने के लिए लैंड हुआ। रिपोर्ट के अनुसार, विमान का संचालन एयरपोर्ट अधिकारियों द्वारा नहीं किया गया था बल्कि वायु सेना ने 27 मई को कानपुर में दोपहर 2:30 बजे कार्गो उड़ान लैंड करवाया। ऑक्सीजन प्लांट कानपुर कैंटोनमेंट के सेवन एयरफोर्स अस्पताल में स्थापित किया जाएगा।

IAF ने कानपुर में ऑक्सीजन राहत पहुंचाई

कारगिल युद्ध में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के बाद IAF कार्गो वाहक C-17 ग्लोबमास्टर, अब कानपुर में कोरोना की लड़ाई को आसान करने में लगा हुआ है। कार्गो विमान ने आधुनिक ऑक्सीजन पैदा करने वाले प्लांट के रूप में फ्रांस से आये ऑक्सीजन सपोर्ट को भारत पहुंचाया है। इसे जल्द ही फ्रांस के तकनीकी जानकारों की मदद से कानपुर के सेवन एयरफोर्स अस्पताल में स्थापित किया जाएगा। 

रिपोर्ट के अनुसार,कार्गो फ्लाइट पहले ग़ाज़िबाद के हिंडन बेस पर उतरी और फिर कानपुर पहुंची। यह सहायता कोरोनावायरस रोगियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की उपलब्धता को आसान बनाएगी और इसे एक उल्लेखनीय प्रावधान के रूप में मान्यता दी गई है। यह वायरस के खतरे के बीच,कानपुर में रिकवरी को बढ़ावा देते हुए मेडिकल प्रक्रियाओं को मजबूत बनाएगा। अब तक, कानपुर में लगभग 82,154 कोरोना मामले दर्ज किए गए हैं और इनमें से लगभग 912 का सक्रिय इलाज जारी है। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *