शहर में स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे को मजबूत करते हुए रविवार को कानपुर में पुलिस अस्पताल को अपग्रेड किया गया है। बीते रविवार को इस अस्पताल का शुभारंभ किया गया। रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ने इस सुविधा का उद्घाटन किया, जो रोगियों की एक बड़ी संख्या का इलाज करेगा। कथित तौर पर, पुलिस अधिकारियों की पत्नियों द्वारा चलाया जाने वाली संस्था वामसारथी कानपुर चैप्टर के प्रयासों से अस्पताल में सुधार किया गया है।

केंद्र पर आइसोलेशन वार्ड, ऑक्सीजन बेड और कॉन्सेंट्रेटर उपलब्ध हैं


महामारी की दूसरी लहर के दौरान, एल-1 चिकित्सा केंद्र ने पुलिस अधिकारियों को सहायता प्रदान की। अब, अपेक्षित तीसरी लहर को देखते हुए अस्पताल को पूरी तरह से बदल दिया गया है और उन्नत सुविधाओं की एक श्रृंखला जोड़ी गई है। रिपोर्ट के अनुसार, अस्पताल में ऑक्सीजन संसाधनों से सुसज्जित आइसोलेशन वार्ड है। इसके अतिरिक्त, रिपोर्ट में कहा गया है कि गंभीर रोगियों के इलाज के लिए कुछ बिस्तरों में ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर भी है।

कथित तौर पर, अस्पताल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि डॉक्टरों का एक प्रशिक्षित समूह रोगियों के लिए व्यापक देखभाल और इलाज करता है। इसके अलावा, होम क्वारंटाइन व्यक्तियों को टेलीकंसल्टेशन सुविधा के माध्यम से भी मदद की जाती है। रिपोर्ट के मुताबिक, कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी स्कीम के तहत मुथूट फाइनेंस की मदद से अस्पताल को अपग्रेड किया गया है।

पुलिस कर्मियों और उनके परिवार के सदस्यों की मदद करने के लिए एक कदम


विशेष रूप से, अस्पताल में कई प्रकार की सेवाएँ उपलब्ध हैं, जिनमें कोविड टेस्टिंग, टीकाकरण और ओपीडी सुविधा शामिल है। अब उम्मीद है कि आने वाले दिनों में यह केंद्र पुलिस कर्मियों और उनके परिवार के सदस्यों की मदद करेगा। जबकि यह महत्वपूर्ण विकास महामारी के विकट समय के दौरान एक सुरक्षा कवच के रूप में कार्य करेगा, यह उसके बाद भी नागरिकों की मदद के लिए कार्यात्मक रहेगा।