जरूरी बातें

28 दिसंबर से शुरू होगा कानपुर मेट्रो का संचालन।
IIT कानपुर से मोतीझील तक बने कॉरिडोर पर संचालित होगी कानपुर मेट्रो।
उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा पूरी करी जा रहीं हैं उद्धघाटन की तैयारियां।
3 दिनों में 9 किमी एलिवेटेड ट्रैक के साथ हर बिंदु की जाएगी जांच।
प्रधानमंत्री द्वारा किया जा सकता है उद्धघाटन।

कानपुर में आवागमन की व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए 28 दिसंबर को कानपुर मेट्रो अपने पहले चरण के सफर के लिए तैयार है। कानपूर मेट्रो का संचालन सबसे पहले 9 किलोमीटर लम्बे कॉरिडोर पर होगा जो शहर में IIT कानपुर से मोतीझील तक बना हुआ है। यह ट्रैक आईआईटी, कल्याणपुर, एसपीएम अस्पताल, विश्वविद्यालय, गुरुदेव, गीता नगर, रावतपुर, लाला लाजपत राय अस्पताल और मोतीझील सहित 8 ओवरहेड स्टेशनों से होकर गुज़रेगा। कथित तौर पर, कानपूर मेट्रो के सफल संचालन के लिए उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (Uttar Pradesh Metro Rail Corporation) द्वारा उद्धघाटन की तैयारियां पूरी करी जा रहीं हैं।

20 दिसंबर तक मिल जाएगी कानपुर मेट्रो को हरी झंडी

कानपूर मेट्रो को आम जनता के लिए शुरू करने से पहले सीएमआरएस (Commissioner of Metro Rail Safety) की टीम को 15 दिसंबर तक मेट्रो रेक की फाइनल जांच पूर्ण करनी है। अभी तक, सीएमआरएस (Commissioner of Metro Rail Safety) की टीम ने केवल गीता नगर डिपो से आईआईटी कानपुर स्टेशन तक मेट्रो संचालन की जांच ही पूरी की है, लेकिन अब 3 दिनों में 9 किमी एलिवेटेड ट्रैक के साथ हर बिंदु की जांच की जाएगी जिसमें ट्रैक, सिग्नल, ट्रेन आदि का परीक्षण किया जायेगा। इस कार्ययोजना के बाद सीएमआरएस (Commissioner of Metro Rail Safety) 20 दिसंबर तक सार्वजनिक सेवाओं को चलाने के लिए अंतिम अनुमति पत्र प्राप्त करेगा।

कानपुर मेट्रो के उद्धघाटन में प्रधानमंत्री के आने की भी उम्मीद है क्यूंकि दिसंबर के अंतिम सप्ताह में कानपुर दौरे के दौरान वह आईआईटी-के दीक्षांत समारोह में उपस्थित होंगे जिसके बाद संभवतः वह कानपुर मेट्रो का उद्घाटन भी करेंगे। उसके बाद जल्द ही जनता के लिए ओवरहेड लाइन पर मेट्रो का संचालन शुरू कर दिया जायेगा। रिपोर्ट के अनुसार, 6 ट्रेनों के साथ कुल 8 मेट्रो रेक, कॉरिडोर पर मेट्रो के परिचालन को गति देंगे।

कानपुर वासियों के लिए होगी आवागमन की सुगम सुविधा

कानपुर मेट्रो का संचालन पूरी तरह से शुरू होने के बाद शहर के लगभग 31 लाख कानपुर वासियों के लिए यह मेट्रो एक आवागमन की सुगम सुविधा होगी। मेट्रो के संचालन से कानपुर में सड़कों पर होने वाली भीड़भाड़, पार्किंग की जगह की कमी और वाहनों से होने वाले कार्बन उत्सर्जन को कम करने में सहायता मिलेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *