जरूरी बातें

यूपी में माघ मेला के अवसर पर टेनरियां व अन्य सम्बंधित उद्योग बंद रहेंगे।

कानपुर प्रशासन ने यह निर्णय जल निकायों में फैक्ट्री डिस्चार्ज को रोकने के लिए लिया गया है।

आगामी माघ मेला अगले साल 14 जनवरी तक प्रयागराज में आयोजित किया जाएगा।

  त्योहार के दौरान, कुल मिलाकर, 24 दिनों के लिए टेनरियां बंद रहेंगे।

कानपुर प्रशासन ने यूपी में माघ मेला उत्सव की तैयारियों के लिए कमर कस ली है और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को जिले में टेनरियां बंद करने की सलाह दी है। निर्देश में जल निकाय में फैक्ट्री डिस्चार्ज को रोकने के लिए जाजमऊ में गंगा नदी के तट पर स्थित सभी उद्योगों को बंद करने निर्णय लिया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, आगामी माघ मेला अगले साल 14 जनवरी तक प्रयागराज में आयोजित किया जाएगा।

माघ मेला 2022 से पहले जल प्रदूषण की जांच के उपाय

कानपुर में यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय केंद्र ने टेनरी संघों को पत्र लिखकर माघ उत्सव के स्नान के दिनों से पहले 2-3 दिनों के लिए टेनरियों को बंद करने के लिए कहा है। यह सुनिश्चित करेगा कि कारखाने जल निकायों में प्रदुषण कारी उत्प्रवाह नहीं होगा। यूपीपीसीबी के क्षेत्रीय अधिकारी अनिल माथुर ने बताया कि इसके लिए 4 दिन का रोस्टर निर्धारित किया गया है। त्योहार के दौरान, कुल मिलाकर, 6 प्रमुख स्नान दिवसों के संबंध में, कुल 24 दिनों के लिए टेनरियां बंद रहेंगे।

उल्लंघन के मामलों पर प्रशासन की निरीक्षण कमेटी नज़र रखेगी। क्षेत्रीय अधिकारी के अनुसार, यह टीम आदेश के उल्लंघन के मामले में साइट का निरीक्षण करेगी और दोषी टेनरी के खिलाफ सख्त कार्रवाई या जुर्माना लगाएगी।

ये है फैक्ट्री के बंद रहने का शेड्यूल

माघ मेले में पहला स्नान दिवस 14 जनवरी को मकर संक्रांति के अवसर पर होता है, जहां 11 से 14 जनवरी तक सभी यूनिट बंद रहेंगी। इसी तरह पौष पूर्णिमा पर स्नान की दूसरी तिथि 17 जनवरी को है, जहाँ कारखाने 14 से 17 तक बंद रहेंगे।

स्नान की तीसरी तिथि मौनी अमावस्या 1 फरवरी को है, जिसके लिए 29 जनवरी से 1 फरवरी तक उत्पादन बंद रहेगा। चौथा स्नान दिवस 5 फरवरी को होगा, जिसके लिए 2 फरवरी से यूनिट बंद रहेंगी।

माघी पूर्णिमा और 1 मार्च को महाशिवरात्रि के रूप में क्रमश: 16 फरवरी को पांचवां और छठा स्नान होगा। इसी के मद्देनजर टेनरी 13 फरवरी से 16 फरवरी तक और फिर 26 फरवरी से 1 मार्च तक उत्पादन बंद रखेगी। इस रोस्टर के अनुसार, स्नान की तारीखों से तीन दिन पहले टेनरियां बंद कर दी जाएंगी। त्योहार के बाद सभी उत्पादन सामान्य रूप से फिर से शुरू हो सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *