आधुनिक सुविधाओं से लैस कानपुर मेट्रो शहर के लोगों को यात्रा एक नया अनुभव प्रदान करने के लिए तैयार है। मेट्रो स्टेशन, मेट्रो ट्रेन और ट्रैक की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए 400 कैमरे भी लगाए हैं जो हमेशा पूरे मेट्रो परिसर की कड़ी निगरानी करेंगे। कैमरों को इस प्रकार लगाया गया है कि मेट्रो परिसर से अंदर और बाहर, कोई भी व्यक्ति इसकी नज़र से बच न पाए।

400 कैमरे पालीटेक्निक डिपो में ऑपरेशन कमांड सेंटर में अपनी लाइव फीड भेजेंगे

कानपुर मेट्रो के प्राथमिक कारिडोर में ट्रेन का संचालन शुरू होने वाला है और यह आवश्यक है कि इससे पहले सुरक्षा के इंतज़ाम किए जाएं। आइआइटी, कल्याणपुर, एसपीएम, विश्वविद्यालय, गुरुदेव चौराहा, गीतानगर, रावतपुर, एलएलआर अस्पताल, मोतीझील स्टेशन पर इस तरह इस तरह के इंतज़ाम किए गए हैं कि स्टेशन के सामने आते ही यात्री कैमरों की नजर में आ जाएंगे। सीढ़ी, एस्क्लेटर, लिफ्ट, कानकोर्स पर टिकट खरीदते समय, और प्लैटफॉर्म पर भी वह कैमरे की निगरानी में रहेंगे। मेट्रो परिसर में प्रवेश से लेकर बाहर जाने तक कोई भी इन कैमरों से बच नहीं पाएगा।

ये सभी 400 कैमरे पालीटेक्निक डिपो में बने आपरेशन कमांड सेंटर में अपनी लाइव फीड भेजते रहते हैं और इसे देखने के लिए मेट्रो स्टॉफ के साथ पुलिस जवानों को भी तैनात किया गया है। कोई भी संदिग्ध गतिविधि दिखते ही वे स्टेशन पर मौजूद स्टॉफ को इसकी जानकारी दे देंगे।

कैमरे खुद भी देंगे संदिग्ध वस्तुओं की जानकारी

मेट्रो के कैमरों में यह भी एक खासियत है कि अगर पूरे स्टेशन परिसर में कोई वस्तु काफी देर से पड़ी हैं और कोई उसे नहीं उठा रहा है तो कैमरे उस वस्तु की फोटो स्टेशन कंट्रोलर के सिस्टम पर भेजने लगेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *