कोविड-19 की आसन्न तीसरी लहर को रोकने के लिए, राजस्थान सरकार ने 2022 तक राज्य में पटाखों के उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। राज्य के विभाग द्वारा साझा किए गए परिपत्र के अनुसार, पटाखों पर प्रतिबंध 1 अक्टूबर से 31 जनवरी 2022 तक लगा रहेगा।

अस्थाई पटाखों के लाइसेंस पर भी रोक

साथ ही राज्य के जिला कलेक्टरों को जारी एडवाइजरी के अनुसार 31 जनवरी तक सभी प्रकार के पटाखों के अस्थाई लाइसेंसों के पंजीकरण पर भी रोक लागू है। दिवाली और दशहरा जैसे त्योहारों के दौरान शहर स्तर पर अंतरिम लाइसेंस के माध्यम से पटाखों की खरीद पर अंकुश लगाने के लिए यह कदम उठाया गया है।

वायु प्रदूषण की किसी भी संभावना को रोकने के लिए प्रतिबंध फिर से लगाया गया है, जो श्वसन रोगों को जन्म दे सकता है, खासकर कोविड-19 से प्रभावित रोगियों में। विशेषज्ञों द्वारा किए गए सर्वेक्षणों के अनुसार, देश में कोविड-19 की तीसरी लहर का खतरा है। दी गई स्थिति और पटाखों से निकलने वाले धुएं के ज्ञात प्रभावों को देखते हुए प्रतिबंध बहुत जरूरी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *