राजस्थान में शायद ही ऐसा कुछ हो, जो वहां के राजसी रहन सहन और राजभाव को न दर्शाता हो, लेकिन यहां पर कुछ ऐसे स्थान भी हैं, जो यहां की आध्यात्मिक विशिष्टता को उतनी ही प्रमुखता से दर्शाते हैं, जितनी विशिष्टता यहां के ऐतिहासिक और वास्तुशिल्प स्थानों में देखने को मिलती है। राजस्थान के अजमेर जिले में एक अनोखा शहर है, जो देश के सबसे पुराने स्थानों में से एक है, जो पिछले कुछ दशकों में विदेशियों के लिए एक रमणीय विकल्प के रूप में उभर कर आया है। यह अद्भुत स्थान 'पुष्कर है' और यहां इतिहास, संस्कृति और दैवत्व तीनो का समन्वय अद्भुत है।

पवित्र ह्रदय और मार्मिक मूलों वाली पुष्कर झील गुलाबी शहर से लगभग 145 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ये पवित्र झील देश भर से आगंतुकों को अपनी आध्यात्मिक आभा की ओर खींचती है, और अक्टूबर से अप्रैल के महीनों से इस स्थान की सुंदरता सचमुच देखने योग्य है। तो आप जब भी जयपुर में हो तब पुष्कर को अपनी यात्रा का एक हिस्सा बनाइये और इस धन्य शहर की हवा में मौजूद ईश्वरीय शक्ति में खो जाईये।

विश्व का एकमात्र ब्रह्मा मंदिर



भगवान ब्रह्मा से सम्बंधित, पुष्कर झील का हिंदू धर्मशास्त्रों में एक पवित्र पंच-सरोवर के रूप में उल्लेख किया गया है, और कहानियों के अनुसार, झील का पुरातत्व समय 4 वीं शताब्दी ईसा पूर्व में है। इस पवित्र नदी के उद्भव के पीछे की एक आकर्षक कहानी यह बताती है की, जब भगवान ब्रह्मा ने वज्रनाभम नामक राक्षस का वध किया था, तो उनके दिव्य कमल से तीन पंखुड़ियां जमीन पर गिर गईं थी, फिर उसी स्थान पर पानी का एक झरना बहने लगा, जिसे आज पुष्कर के नाम से जाना जाता है।

इसके अलावा जानकारों का कहना है की, भगवान ब्रह्मा ने यहां एक घाट पर यज्ञ किया था, और फिर उन्हें अपनी पहली पत्नी द्वारा शाप दिया गया था, की इस स्थान पर ही उनकी (ब्रह्मा जी) पूजा की जाएगी। इसी कारण से यह माना जाता है की, पुष्कर झील में दुनिया का एकमात्र ब्रह्मा मंदिर है, जो इसे दुनिया के शीर्ष धार्मिक स्थलों में से एक बनाता है, और भारत में हिंदुओं के लिए शीर्ष 5 धार्मिक स्थानों में से एक है !



500 मंदिरों और 52 घाटों से घिरी, पुष्कर झील हिंदू तीर्थयात्रा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, और वार्षिक और प्रतिष्ठित पुष्कर मेले के दौरान यहां का रमणीय दृश्य किसी सुन्दर जगमगाती कल्पना जैसा प्रतीत होता है ! यह भी माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन इस झील में स्नान करने से भक्तों को पापों से मुक्ति मिलती है, और शारीरिक बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं, विशेषकर त्वचा के रोग।



लेकिन सच्चाई तो यह है की, केवल इस स्थान के बारे में पढ़ने से बात पूरी नहीं होगी, आपको शहर और इस झील में जाकर ही पता चलेगा की यह पर्यटकों और स्थानीय लोगों के लिए एक पसंदीदा स्थान क्यों है। यहां झील की सीढ़ियों पर सुकून से बैठिये और सुनहरे सूरज को मंदिरों के पीछे छुपता हुआ देखिये जिसकी परछाई आपको झील के पानी में नज़र आएगी, जो नीले से नारंगी और फिर लाल और धीरे-धीरे काले रंग में बदल जाता है, और दिन को एक सुंदर रात में बदल देता है।

नॉक नॉक (Knock Knock)

ताजा ख़बरों के साथ सबसे सस्ती डील और अच्छा डिस्काउंट पाने के लिए प्लेस्टोर और एप स्टोर से आज ही डाउनलोड करें Knocksense का मोबाइल एप और KnockOFF की मेंबरशिप जल्द से जल्द लें, ताकि आप सभी आकर्षक ऑफर्स का तत्काल लाभ उठा सकें।

Android - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knocksense

IOS - https://apps.apple.com/in/app/knocksense/id1539262930