जयपुर की ऐतिहासिक सम्पदा ही इस शहर को दुनिया के सबसे लोकप्रिय शहरों में से एक बनाती है, और इसके रमणीय स्थान वास्तव में अतुलनीय हैं। लेकिन शहर के आस पास के स्थल भी उतने ही शानदार और विस्मयकारी हैं, और उनमें से एक स्थान है, 'अलवर' जो अपने शाही आकर्षण के साथ राज्य की राजधानी जयपुर से 152 किलोमीटर दूर स्थित है। तो अगर आप जयपुर से अलवर जाएँ तो बाला क़िला की यात्रा करना न भूलें, क्यूंकि यह किला भव्यता में स्थानीय सभी किलों से परे है।

करणी माता मंदिर के पास, अरावली पहाड़ियों के बीच स्थित, विशाल बाला किला (अलवर किला) अलवर शहर की ओर मुख किये हुए 300 मीटर की ऊंचाई पर एक खड़ी चट्टान पर स्थापित है। यह खूबसूरत शहर अलवर का शानदार दृश्य पेश करता है। यह शहर का सबसे बड़ा आकर्षण है और अलवर शहर का सबसे भव्य और प्रभावशाली स्मारक माना जाता है।

शानदार 15वीं शताब्दी।



15वीं शताब्दी में हसन खान मेहंदी द्वारा बनवाया गया अलवर फोर्ट ऐतिहासिक इंडो इस्लामिक वास्तुकला का अद्भुत उदाहरण है। सुशोभित मूर्तियों के साथ, किले में निकुंभ महल पैलेस और उसके दिलकश फ्रेस्को शोभायमान हैं। इसके अलावा सूरज कुंड, सागर तालाब और जल महल देखे बिना यह यात्रा वास्तव में अधूरी रह जायेगी।

इस स्थल में 15 प्रमुख एवं अत्यंत प्रसिद्ध मंदिर हैं, जिनमें चक्रधारी हनुमान मंदिर और सीता राम मंदिर भी शामिल हैं। ये सौंदर्यपूर्ण संरचनाएं पुराने समय की गौरवशाली महिमा का परिचय देते हैं। इस प्राचीन इमारत में 156 और 51 छोटे टावरों के साथ 446 ओपनिंग (लूपोल्स) है और इसके चारों ओर आठ टावर हैं जो इसकी सुरक्षा को और मजबूत करते हैं। इस उत्कृष्ट किले में 6 ऐतिहासिक प्रवेश द्वार हैं - जय पोल सूरज पोल, चांद पोल, अँधेरी गेट, किशन पोल।



बाला किला खानजादों, मुगलों, पठानों और जाटों सहित विभिन्न राजवंशों के हाथों से गुजरने के कारण अलवर किला विभिन्न परंपराओं और संस्कृतियों में लिपटा हुआ है ! जानकारों का कहना है कि किला भारत के पहले मुगल राजा बाबर का घर था, जिन्होंने यहां से थोड़ा खज़ाना लेकर अपने बेटे हुमायूँ को उपहार दिया था। यह भी कहा जाता है कि महान मुगल राजा अकबर ने अपने बेटे जहांगीर को यहां भगा दिया था, जिसने किले में एक महत्वपूर्ण समय बिताया था !

नॉक नॉक (Knock Knock)



बाला किला, अरावली पर्वत श्रृंखला के सबसे उत्तरी छोर पर एक विशाल किला, भूले हुए समय की अनोखी कहानी को बुनता है। यह सुझाव दिया जाता है कि अलवर में रहने के दौरान आपको कम से कम एक बार इस किले का दौरा करना ही चाहिए, क्योंकि आपको रास्ते में प्राकृतिक दृश्य और हरे-भरे घास के मैदानों के मनोरम दृश्य देखने को मिलेंगे। इसलिए अपना बैग पैक करें और खोए हुए इतिहास को उजागर करने के लिए 1100 साल पुराना सफर करें।

ताजा ख़बरों के साथ सबसे सस्ती डील और अच्छा डिस्काउंट पाने के लिए प्लेस्टोर और एप स्टोर से आज ही डाउनलोड करें Knocksense का मोबाइल एप और KnockOFF की मेंबरशिप जल्द से जल्द लें, ताकि आप सभी आकर्षक ऑफर्स का तत्काल लाभ उठा सकें।

Android - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.knocksense

IOS - https://apps.apple.com/in/app/knocksense/id1539262930