वाहनों की आसान और नियमित आवाजाही सुनिश्चित करने के प्रयास में, जयपुर पुलिस शहर के प्रमुख स्थानों पर ‘जीरो टॉलरेंस जोन’ स्थापित करेगी। रिपोर्ट के अनुसार, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त, कानून और व्यवस्था ने सभी स्टेशनों पर अधिकारियों को अपने अधिकार क्षेत्र के तहत एक सड़क की पहचान करने का निर्देश दिया है, जो भीड़ और अन्य मुद्दों के कारण नियमित यातायात समस्याओं का सामना करती है। कथित तौर पर, योजनाओं में अतिक्रमण और अवैध पार्किंग स्थलों जैसे अवरोधों को हटाने की आवश्यकता है।

ट्रैफिक जाम की ओर ले जाने वाले कारकों पर नज़र रखी जानी चाहिए और उनका अध्ययन किया जाना चाहिए

इन क्षेत्रों को सख्त निगरानी में रखा जाएगा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि नागरिक बताए गए दिशानिर्देशों का उल्लंघन न करें। इसके अलावा, सुनियोजित उपायों की तैनाती के माध्यम से यातायात की आवाजाही में सुधार किया जाएगा। यह बताया गया है कि जयपुर में ट्रैफिक समस्या के विभिन्न कारणों का आकलन और जांच करने के लिए भी इस योजना का उपयोग किया जाएगा।

रिपोर्ट के मुताबिक, एक अधिकारी ने बताया कि इस प्रोजेक्ट को अगले हफ्ते शुरू कर दिया जाएगा। स्टेशन हाउस अधिकारी प्रमुख चौराहों पर यातायात के मुक्त और सुव्यवस्थित प्रवाह को सुनिश्चित करने के लिए उपाय करेंगे।

ट्रैफिक की समस्या के समाधान के लिए तैयार की जाएगी व्यापक योजना

पुलिस अधिकारियों के अनुसार, अगले सप्ताह से योजना शुरू की जाएगी। एसएचओ अपने स्टाफ को महत्वपूर्ण चौराहों पर भी तैनात करेंगे ताकि यातायात सुचारू रूप से चले। जबकि जयपुर पुलिस लंबे समय से एक व्यापक योजना को लागू करने की कोशिश कर रही है, शहर में ट्रैफिक की परेशानी को कम करने के लिए एक भी उपाय तैयार नहीं किया जा सका है। इस प्रकार, अधिकारियों ने एक रियल टाइम में निगरानी योजना को क्रियान्वित करने का निर्णय लिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *