वर्तमान परिस्थिति में ऑक्सीजन संसाधनों की बढ़ती मांग को देखते हुए, हाल ही में जयपुर में 6 बिस्तरों से सुसज्जित एक 'मोबाइल ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर सुविधा' को चालू किया गया था। रिपोर्ट के अनुसार, यह नवीनतम पहल सुभाष नगर के सरकारी टीबी अस्पताल में परिवहन मंत्री द्वारा शुरू की गई थी। कथित तौर पर, यह सुविधा वैश्य महासम्मेलन के राजस्थान विंग के योगदान से शुरू की गई है, और इससे बड़ी संख्या में लाभार्थियों को मदद मिलने की उम्मीद है।

रोगियों की एक बड़ी संख्या को मिलेंगे कई लाभ


विकट परिस्थितियों को देखते हुए, सरकार ने महामारी से निपटने के लिए त्वरित और सुव्यवस्थित उपाय किए हैं। संक्रमण की दूसरी लहर के बाद गंभीर रोगियों की संख्या में भारी वृद्धि हुई, जिससे ऑक्सीजन और अस्पताल में बिस्तरों की आवश्यकता बढ़ गई। इसको संज्ञान में लेते हुए प्रशासन ने कोविड केयर सेंटरों की स्थापना के साथ कई अन्य योजनाओं को भी शुरू किया है।

जहां इस समय पर्याप्त ऑक्सीजन की उपलब्धता की आवश्यकता है, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि अस्पतालों तक सुरक्षित पहुंचने के लिए रोगियों को ऑक्सीजन युक्त सुविधाओं की आवश्यकता होती है। इस आवश्यकता के अनुरूप, नई सेवा रोगियों को अस्पताल तक सुरक्षित पहुंचाने का काम करेगी। इसके अलावा, वाहन जल्दी से उन क्षेत्रों में पहुंच जाएगा जहां आपात स्थिति देखी जाती है, जिससे मरीजों को त्वरित चिकित्सा सहायता मिल सकेगी।

जयपुर में नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार


जयपुर में मंगलवार को 2,676 नए संक्रमण दर्ज किए जाने के साथ, संक्रमित व्यक्तियों की संचयी संख्या 1,71,251 तक पहुंच गई है। रिकवर होने वालो लोगों की बढ़ती संख्या ने सक्रिय केस लोड को कम करने में मदद की है। मंगलवार को 5,382 रोगियों के ठीक होने के बाद, 34,098 सक्रिय मरीज़ वर्तमान में जयपुर में उपचार प्राप्त कर रहे हैं। दुखद बात यह है कि, 35 व्यक्तियों ने एक ही दिन में वायरस के कारण अपनी जान गवां दी।