मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि चक्रवात 'तौकते' जल्द ही राजस्थान पहुंचेगा और राज्य के कुछ हिस्सों को प्रभावित करेगा। जारी की गई चेतावनियों के मद्देनज़र, राजस्थान के मुख्यमंत्री ने मीडिया को बताया कि राज्य भर में आपदा प्रबंधन को सुनिश्चित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कोविड संक्रमित व्यक्तियों के लिए सुचारू रूप से ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों को निर्देश देने के अलावा राज्य के निवासियों से भी सतर्क रहने और तैयार रहने का अनुरोध किया है।

राजस्थान में ऑक्सीजन सप्लाई हो सकती है प्रभावित


मौसम विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि 'तौकते' राजस्थान के कुछ जिलों- जोधपुर, उदयपुर, कोटा, अजमेर, जयपुर और भरतपुर संभागों को प्रभावित करेगा। इस जानकारी को ध्यान में रखते हुए, राजस्थान के मुख्यमंत्री ने नागरिकों से सतर्क और तैयार रहने की अपील की थी। निवासियों को सुचारू आपदा प्रबंधन का आश्वासन दिया गया है और आपदा प्रबंधन टीमों को स्थिति सामान्य होने तक अलर्ट पर रखा गया है।

यह भी उम्मीद है कि चक्रवात गुजरात के जामनगर को प्रभावित कर सकता है, जो राजस्थान के लिए ऑक्सीजन का सबसे बड़ा स्रोत है। इसलिए, अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे कोविड संक्रमित व्यक्तियों के लिए सुचारू ऑक्सीजन की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए पहले से आपातकालीन योजना तैयार करें। इसके अलावा, अस्पतालों को निर्देश दिया गया है कि तूफान के दौरान निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए जनरेटर स्थापित करें।

पूरे देश पर मंडरा रहा है इस चक्रवात का खतरा

पूरे देश में इसी तरह के रेड अलर्ट जारी किए गए हैं, क्योंकि इस चक्रवात ने मौसम के उपकरणों को तबाह कर दिया है, जिससे यह खतरा बढ़ गया है। चक्रवात 'तौकते' के 18 मई तक गुजरात के तटों तक पहुंचने की संभावना है। इसके अलावा, इस तूफान के कारण, यूपी, केरल, कर्नाटक, गोवा, कोंकण और लक्षद्वीप में भी हल्की या भारी बारिश होगी।