मुख्य बिंदु

राजस्थान की 5 करोड़ से अधिक पात्र आबादी को कोरोना का टीका सफलतापूर्वक लग गया है।

➡राजस्थान स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, राज्य ने सोमवार शाम 4 बजे तक लगभग 5,00,78,073 कोरोनावायरस टीके उपलब्ध कराए थे।

➡राज्य की लगभग 16.5% पात्र आबादी को पूरी तरह से टीका लगाया गया है, जबकि 48.5% को पहली खुराक मिल चुकी है।

➡सोमवार तक, राजस्थान में लगभग 3,92,241 टीकाकरण शॉट्स लगाए गए, जिसमें 2,38,692 पहली खुराक और 1,53,549 दूसरी खुराक शामिल हैं।

➡उल्लेखनीय रूप से, राज्य की राजधानी जयपुर राजस्थान के टीकाकरण अभियान में काफी आगे रहा है, जहां पिछले 24 घंटों में शहर में लगभग 1,25,574 कोरोना के टीके लगाए गए।

राजस्थान ने कोरोना टीकाकरण में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल की है। राजस्थान की 5 करोड़ से अधिक पात्र आबादी को कोरोना का टीका सफलतापूर्वक लग गया है। राजस्थान स्वास्थ्य मंत्रालय की एक प्रेस रिलीज़ के अनुसार, राज्य ने सोमवार शाम 4 बजे तक लगभग 5,00,78,073 कोरोनावायरस टीके उपलब्ध कराए थे। इसके साथ, राज्य की लगभग 16.5% पात्र आबादी को पूरी तरह से टीका लगाया गया है, जबकि 48.5% को पहली खुराक मिल चुकी है।

राजस्थान में 1.28 करोड़ से अधिक लोगों का पूर्ण टीकाकरण


राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि सोमवार शाम तक यहां लक्षित 5,14,95,402 में से करीब 3.73 करोड़ लोगों को पहली खुराक लगाई जा चुकी है। इसके अलावा, लगभग 1.27 करोड़ लोगों ने यहां दोनों टीकाकरण खुराकें पूरी कर ली हैं, जिससे टीके लगने की खुल संख्या बढ़कर कुल 5,00,78,073 हो गयी है।

सोमवार तक, राजस्थान में लगभग 3,92,241 टीकाकरण शॉट्स लगाए गए, जिसमें 2,38,692 पहली खुराक और 1,53,549 दूसरी खुराक शामिल हैं। उल्लेखनीय रूप से, राज्य की राजधानी जयपुर राजस्थान के टीकाकरण अभियान में काफी आगे रहा है, जहां पिछले 24 घंटों में शहर में लगभग 1,25,574 कोरोना के टीके लगाए गए।

स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य के टीकाकरण अभियान को गति देने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों के कठोर प्रयासों को श्रेय दिया। "स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मियों ने लगन से काम किया और यही कारण है कि बहुत कम समय में 5 करोड़ से अधिक आबादी का टीकाकरण किया जा सका।"

आने वाली तीसरी लहर की आशंका के बीच सख्त सतर्कता जरूरी

भले ही रेगिस्तानी राज्य में कोरोना मामलों में गिरावट देखी गई हो, लेकिन महामारी का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है। जैसे, स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से राज्य द्वारा जारी सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करना का आग्रह किया है।

इस घातक वायरस की संभावित 'तीसरी लहर' से बचने के लिए विशेषज्ञों ने अतिरिक्त सावधानी बरतने की सलाह दी है। मंत्री ने कहा कि लोगों को बाहर जाते समय मास्क पहनने, भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचने, सामाजिक दूरी बनाए रखने और संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बार-बार साबुन से हाथ धोने की आदत डालनी चाहिए।